जमशेदपुर, जासं। झारखंड के जमशेदपुर शहर में भी अब दवाओं की कालाबाजारी शुरू हो गई है। इसे लेकर ड्रग विभाग की टीम लगातार छापेमारी कर रही है। इस दौरान देखा जा रहा है कि कोरोना के इलाज में उपयोग होने वाली दवाइयाें का रिकार्ड कोई भी दुकानदार नहीं रख रहे हैं।

दुकानदार सिर्फ दवा बेच रहे हैं लेकिन उसका बिल उनके पास ढूंढ़े नहीं मिल रहा है। जबकि सभी दुकानदारों को सख्त निर्देश दिया गया है कि वे जो भी दवा बेचें उसका पूरा रिकार्ड अपने पास रखें ताकि उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जा सके। गुरुवार को ड्रग विभाग की टीम ने साकची के काउंटिया मेडिकल व प्रीति मेडिकल दुकान पर छापेमारी की। इस दौरान भारी गड़बड़ी मिली। कोरोना के इलाज में उपयोग होने वाली दवाइयों का रिकार्ड किसी के पास नहीं था। इसके साथ ही और भी कई गड़बड़ी मिली। ड्रग विभाग की टीम ने इसे गंभीरता से लेते हुए दोनों का लाइसेंस रद करने की अनुशंसा विभाग से की है।

मानगो के दो दुकानों में हुइ थी छापेमारी

इससे पूर्व बुधवार को मानगो के बालाजी मेडिकल व मानगो ओल्ड पुरुलिया रोड स्थित प्रतिमा मेडिकल में भारी गड़बड़ी मिली थी। दोनों ही दुकान का लाइसेंस रद करने की अनुशंसा की गई है। छापेमारी टीम में ड्रग इंस्पेक्टर राजीव एक्का व जया आईंद शामिल थे। राजीव एक्का ने बताया कि इस महामारी में किसी तरह की गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। दवा दुकानदारों से अपेक्षा है कि वह लोगों की मदद करें ताकि अधिक से अधिक लोगों की जान बचाई जा सकें।