जमशेदपुर, वीरेंद्र ओझा। जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र से इस बार आजसू के विधायक व झारखंड सरकार के जल संसाधन मंत्री रामचंद्र सहिस ताबड़तोड़ चुनावी सभा कर रहे हैं, जबकि भाजपा कार्यकर्ता भी अंदर ही अंदर इस सीट पर भाजपा उम्मीदवार की तैयारी कर रहे हैं।

मंडल अध्यक्षों की मानें तो उन्हें दो वर्ष पूर्व ही संगठन प्रभारी ने यह निर्देश दिया था कि विधानसभा चुनाव की तैयारी भाजपा उम्मीदवार के लिए मानकर करें। यही कारण है कि सहिस की किसी जनसभा या बैठक में भाजपा कार्यकर्ता शामिल नहीं हो रहे हैं। इस बात को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के ताजा बयान ‘कोल्हान में आजसू को सिर्फ जुगसलाई सीट मिलेगी’ और इसके बाद आजसू नेता देवशरण भगत के बयान ‘भाजपा 2014 की स्थिति से तुलना ना करे’ से हवा मिल गई है। भाजपा के मंडल अध्यक्ष कह रहे हैं कि जुगसलाई क्षेत्र के शहरी इलाके में आजसू की जीत में नब्बे फीसद से ज्यादा योगदान हमारा रहता है।

भाजपा जुगसलाई मंडल के अध्यक्ष प्रकाश जोशी कहते हैं कि विगत लोकसभा चुनाव में जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र से भाजपा ने 63,000 से अधिक मतों से जीत दर्ज की। इस विधानसभा चुनाव में भी प्रदेश नेतृत्व द्वारा जुगसलाई क्षेत्र से भाजपा के चुनाव लड़ने का निर्देश स्पष्ट रूप से पार्टी कार्यकर्ताओं को दिया है। भाजपा कार्यकर्ता पार्टी के निर्देशानुसार इसके लिए पूरी तैयारी कर चुके हैं। पिछले दिनों पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के मंडल प्रवास कार्यक्रम के तहत सांसद विद्युत वरण महतो ने भी जुगसलाई विधानसभा के कुछ मंडलों में प्रवास कर कार्यकर्ताओं को पूरे दमखम के साथ जुगसलाई विधानसभा में भाजपा प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित करने की बात कही थी।

जुगसलाई क्षेत्र पिछड़ा

प्रकाश जोशी ने कहा कि जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र विकास के मामले में अभी भी जमशेदपुर की अन्य विधानसभाओं की तुलना में काफी पिछड़ा हुआ है। इसका मुख्य कारण यहां भाजपा का विधायक नहीं होना है। भाजपा यहां बड़ी जीत दर्ज कर डबल इंजन की सरकार के विकास को पूरे विधानसभा क्षेत्र की जनता तक पहुंचने का कार्य करेगी। भाजपा कार्यकर्ता विधानसभा चुनाव जीतने की पूरी तैयारी कर चुके हैं। हम 65 प्लस के लक्ष्य को और बड़ा करने को तैयार हैं।

जिसने हमारे मुख्यमंत्री का पुतला फूंका, वह हमारा हितैषी कैसे

भाजपा परसुडीह मंडल के अध्यक्ष पंकज सिन्हा ने कहा कि जो विधायक हमसे बात नहीं करता है। हमारे खिलाफ में पैरवी करता है और उससे बड़ी बात कि हमारे मुख्यमंत्री का पुतला फूंकता है, वह हमारा हितैषी कैसे हो सकता है। ऐसे में हमारा कार्यकर्ता क्यों नहीं चाहेगा कि हमारा उम्मीदवार हो। ना हमारे पास कार्यकर्ता की कमी है, ना उम्मीदवार की। सहिस की किसी बैठक, सभा या कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ता को नहीं बुलाया जाता है।

पिछले चुनाव में भी हुआ था विरोध

जुगसलाई विधानसभा के पिछले चुनाव में भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने इस बात का विरोध किया था। यहां तक कि भाजपाइयों ने भी कह दिया था कि हम नोटा दबाएंगे। लेकिन बाद में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो की मौजूदगी में गठबंधन धर्म का पालन करने को कहा, तो हम मान गए। उसी समय संगठन के नेताओं ने हमसे वादा किया था कि अगली बार भाजपा अपना उम्मीदवार देगी।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप