जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। यह एक ऐसी तकनीक है जिसे अमल में लाने पर बाइक सवार खुद ब खुद यातायात नियमों को मानने पर मजबूर हो जाएंगे। इस तकनीक में मजबूरी ऐसी है कि आप बिना हेलमेट पहने बाइक नहीं चला सकते। हेलमेट पहन भी लिया तो बाइक तब स्टार्ट होगी जब आपने शराब नहीं पी रखी है।

इस तकनीक का प्रदर्शन आदित्यपुर स्थित ऑटो क्लस्टर में आयोजित इनोवेशन कॉन्क्लेव में किया गया। इस रेडी टू यूज तकनीक का प्रदर्शन टाटा स्टील मीन्स एंड यूटिलिटी इलेक्ट्रिकल मेंटेनेंस के तकनीकी विशेषज्ञों तुहीन भट्टाचार्या व कृष्णेंदु सरकार ने किया। 

कैसे काम करती है तकनीक

हेलमेट पहनने की अनिवार्यता और अल्कोहल की पहचान सेंसर लगे हेलमेट के जरिए होता है। इसका कनेक्शन बाइक पर मीटर बोर्ड के साथ लगे इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले से होता है। हेलमेट पहनने के बाद उसका लॉक लगाते ही बाइक को सिगनल मिल जाता है। वहीं हेलमेट पहनने के बावजूद यदि संबंधित चालक ने शराब पी रखी है तो सांस छोडऩे पर हेलमेट में लगा सेंसर बाइक के इग्निशन से जुड़े उपकरण को संकेत दे देगा। बाइक स्टार्ट नहीं होगी। 

टाटा स्टील के वीपी एचआरएम ने किया निरीक्षण

आदित्यपुर स्थित ऑटो क्लस्टर में शनिवार को आयोजित इनोवेशन कॉन्क्लेव का उद्घाटन मुख्य अतिथि के रूप में टाटा स्टील के वाइस पे्रसीडेंट एचआरएम सुरेश दत्त त्रिपाठी ने किया। इस दौरान झारखंड के उद्योग निदेशक रवि कुमार, टाटा स्टील के मुख्य परचेज हेड अमिताव बख्शी,  यंग इंडियन जमशेदपुर के दिव्यांशु  सिन्हा, एनआइटी जमशेदपुर के निदेशक डॉ. केके शुक्ला, इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के पदाधिकारी एशिया चेंबर ऑफ कॉमर्स लघु उद्योग भारती के प्रतिनिधियों के अलावा बड़ी संख्या में उद्यमी और निवेशकों ने भागीदारी की। 

दूसरे सत्र में चला लर्निंग सेशन

कान्क्लेव के दूसरे सत्र में लर्निंग सेशन का आयोजन किया गया। इसमें जुस्को के चीफ टेक्निकल ऑफीसर के कृष्ण कुमार ने उपायोगी तकनीकी जानकारियां दीं। इसके अलावा मुनीश ने इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स के बारे में बताया। आयोजन में यंग इंडियंस के नेशनल को चेयर अनुश रामास्वामी एवं एंटरप्रेन्योरशिप एंड इन्नोवेशन के राष्ट्रीय प्रमुख अवनीश नायक उपस्थित थे।

उद्यमियों ने दिखाई रुचि

इनोवेशन कॉन्क्लेव में बहुत से प्रमुख उद्यमियों ने रुचि दिखाई। इंदर अग्रवाल, रूपेश चित्र, बिजय आनंद मोहन, प्रभाकर सिंह, नंदकिशोर अग्रवाल, उमेश, एसके बेहरा, नवीन अग्रवाल, उत्तम अग्रवाल के अलावा एक्सएलआरआइ के करीब 70 प्रतिनिधि शामिल हुए। एनआइटी के विद्यार्थी, सीपीएस स्कूल के बच्चों ने आयोजन को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। कार्यक्रम के अंत में सर्वश्रेष्ठ इन्नोवेटर को पुरस्कृत भी किया गया।

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस