जागरण संवाददाता, जमशेदपुर :

शादी के लिए लोन लिया था। दो दिन बाद शादी है। अभी कार्ड बांटने से लेकर कई इंतजाम करने हैं, लेकिन सुबह नौ बजे से बैंक में हूं। यह कहते हुए घाघीडीह निवासी विक्टर कुमार मित्रा

थोड़े परेशान दिखते हैं। भारतीय स्टेट बैंक की बिष्टुपुर स्थित जमशेदपुर मुख्य शाखा में 75,000 रुपये निकालने आए रेलवे कर्मी विक्टर बताते हैं कि शादी के लिए 2.50 लाख तक के रुपये निकालने का आदेश गुरुवार को आया। इससे पहले उन्होंने दोस्तों-रिश्तेदारों से रुपये का इंतजाम कर लिया था। अब सोच रहा हूं बैंक से मिल जाएंगे, तो राहत मिल जाएगी। करीब एक घंटे तक बैंक में एप्रूवल के लिए भटकता रहा। एक अधिकारी, दूसरे के पास भेज रहा था। आखिरकार अनुमति मिल गई।

इसी तरह सोनारी निवासी पार्थसारथी नंदी अपने बेटे की शादी के लिए 2.25 लाख रुपये निकालने आए थे। टाटा स्टील से सेवानिवृत्त नंदी बताते हैं कि शादी-ब्याह में लिक्विड मनी की काफी आवश्यकता होती है। हर छोटे-मोटे काम के लिए किसी को चेक नहीं दे सकते, हर कोई लेता भी नहीं। उनके बेटे की शादी 25 नवंबर को है। इससे उन्हें बहुत सहूलियत होगी। गरमनाला निवासी धर्मेद्र कुमार भी अपनी बहन की शादी के लिए रुपये निकालने आए

थे। शादी 24 नवंबर को है। धर्मेद्र बताते हैं कि मंजूरी के लिए उन्हें भी परेशान होना पड़ा। बैंक वालों की भी गलती नहीं है, रोज नये-नये नियम आ रहे हैं। उन्हें भी बहुत कुछ मालूम नहीं है, वरना एक अधिकारी दूसरे के पास क्यों भेजता। इसमें शादी के कार्ड के साथ आधार, पैन कार्ड की फोटोकॉपी व आवेदन पत्र भी लिया जा रहा है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस