जमशेदपुर, जेएनएन। Bank Will Remain Closed For Three Consecitive days in March Month मार्च महीने में लगातार तीन दिन बैंक और बंद रहेंगे। महीने के पूर्वार्ध में अभी होली को लेकर बैंक तीन दिन लगातार बंद रहे थे।  

8 मार्च को रविवार यानी साप्‍ताहिक अवकाश था। उसके बाद 9 और दस मार्च को होली की छुट्टी रही। इस वजह से जब 11 मार्च को बैंक खुले तो जरूरी काम से बैंक पहुंचे लोगों को  भीड़ की वजह से परेशानी का सामना करना पड़ा। 12 मार्च यानी गुरुवार को स्थिति थोड़ी सामान्‍य देखी जा रही है। एटीएम का नगदी संकट भी हद तक दूर हुआ है। 

27 मार्च को रहेगी हड़ताल

27 मार्च शुक्रवार को बैंकों में हड़ताल रहेगी। उसके बाद  28 मार्च को महीने का चौथ शनिवार होने की वजह से अवकाश रहेगा। 29 मार्च को रविवार होने की वजह से साप्‍ताहिक अवकाश रहेगा। इस तरह बैंक तीन दिन बाद 30 मार्च को खुलेंगे। इस दौरान लोगों को सावधान रहने की जरूरत है।   बैंक के जरूरी काम समय रहते निबटा लेने होंगे। साथ ही जरूरी नकदी का इंतजाम भी कर लेना होगा, नहीं तो दिक्‍कत का सामना करना पड़ सकता है। 

बैंकों के विलय का हो रहा विरोध

ऑल इंडिया बैंक इंपलाइज एसोसिएशन(एसआइबीईए) और ऑल इंडिया बैंक आफ‍िसर्स एसोसिएशन (एआइबीओए) 10 बैंकों का चार बैंकों में विलय का विरोध कर रहा है। इनका मानना है कि विलय से एनपीए और  बढ़ेगा। यूनियन की शिकायत है कि सरकार बैंककर्मियों की समस्‍या का समाधान करने की वजाय उसे अ और उलझा रही है । यूनियन  पांच कार्य दिवस लागू करने की मांग भी की कर रही है। हालांकि, कार्यदिवस की मांग को पहले ही इंडियन बैंक एसोसिएशन( आईबीए) खारिज कर चुका है। आइबीए का तर्क रहा कि  किसी दूसरे  देश के मुकाबले भारत में पहले से ही सबसे ज्यादा छुट्रटयां  हैं। बैंक यूनियनों की मांगों में विशेष भत्ता को  को मूल वेतन में शामिल करने, नई पेंशन योजना को खत्म करने एवं पारिवारिक पेंशन को बेहतर बनाने की  मांगे भी शामिल हैं। 

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस