सरायकेला, जासं। सरायकेला पुलिस ने नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के नाम पर लेवी वसूली करने वाला अभियुक्त वरुण महतो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इस संबंध में सरायकेला के पुलिस इंस्पेक्टर आलोक दुबे ने शनिवार को सरायकेला थाना में प्रेस कॉफ्रेस कर जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस अधीक्षक को खरसावां, आमदा व सरायकेला क्षेत्र में अज्ञात व्यक्ति द्वारा भाकपा माओवादी के नाम पर लेवी वसूली करने की गुप्त सूचना मिली।

उन्होंने बताया कि उक्त गुप्त सूचना के आधार पर सरायकेला के एसडीपीओ के नेतृत्व में एक छापेमारी टीम का गठन किया गया। छापेमारी टीम ने पेशेवर तरीके से काम करते हुए अभियुक्त को सरायकेला,खरसावां आदित्यपुर क्षेत्र से छापेमारी कर गिरफ्तार किया। बताया गया कि गिरफ्तार वरुण महतो बेहद शातिर अपराधी है जिसके पास से पुलिस ने धमकी के लिए प्रयोग किया गया। तीन मोबाइल समेत भाकपा माओवादी लिखा लाल रंग का पर्चा बरामद किया है। इंस्पेक्टर ने बताया गिरफ्तार अभियुक्त पश्चिमी सिंहभूम के सोनुवा थाना अंतर्गत पोड़ाहाट गांव का रहनेवाला है जिसने स्वीकारोक्ति बयान में बताया कि वह पूर्व में भी जेल जा चुका है। वर्ष 2018 में सोनुवा थाना क्षेत्र से वह भाकपा माओवादी के नाम पर पर्चा देकर 10 से 15 लाख रुपये की रंगदारी वसूल किया है। जिस मामले में भी वह जेल भी जा चुका है और वर्त्तमान समय में वह सरायकेला जिले में माओवादी के नाम पर लोगों को डरा धमका कर लेवी वसूलने का काम करता था।

आपराधिक इतिहास

गिरफ्तार अभियुक्त का आपराधिक इतिहास रहा है। प्रेस कॉफ्रेंस में मुख्यरुप से सरायकेला थाना प्रभारी मनोहर कुमार व खरसावां थाना प्रभारी प्रकाश रजक समेत अन्य उपस्थित थे। 32 साल का वरुण पिछले छह साल से भाकपा माओवादी के नाम पर रंगदारी वसूलने का काम करते आ रहा है। पुलिस ने उसके पास से तीन मोबाइल और नक्सली पर्चा भी बरामद किया है। वरुण महतो रंगदारी मांगने के लिए कभी लड़की तो कभी बूढ़े की आवाज में मोबाइल से फोन करता था ताकि उसकी आवाज कोई पहचान नहीं सके। कांड के अनुसंधान के क्रम में विभिन्न स्रोतों से प्राप्त सूचना के आधार पर वरुण महतो को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

Edited By: Rakesh Ranjan