जितेंद्र सिंह, जमशेदपुर। लंबे अंतराल के बार एक बार फिर कीनन स्टेडियम गुलजार होने वाला है। भले ही इस ऐतिहासिक स्टेडियम में पिता सचिन तेंदुलकर का बल्ला नहीं चला हो, लेकिन प्रशंसकों को उनके बेटे अर्जुन तेंदुलकर से काफी उम्मीदें हैं। 20 दिसंबर से झारखंड के खिलाफ होने वाले रणजी मुकाबले में अर्जुन तेंदुलकर जलवा बिखेरेंगे। उधर, अपने बेटे का मैच देखने के लिए सचिन तेंदुलकर के भी लौहनगरी पहुंचने की चर्चा है। मुंबई टीम में जगह नहीं मिलने के कारण अर्जुन ने इस सीजन में गोवा की शरण ली है।

22 साल का यह युवा क्रिकेटर पिछले सीजन में लीग चरण में मुंबई रणजी ट्राफी टीम का हिस्सा थे, लेकिन नाकआउट में जगह नहीं बना सके। रणजी सीजन 13 दिसंबर से शुरू हो रहा है। गोवा पिछले सीजन में रणजी ट्राफी के एलीट ग्रुप डी में एक ड्रा और दो हार के साथ चौथे स्थान पर रहा था।

अर्जुन तेंदुलकर पर कपिल देव का बयान, अगर 50 प्रतिशत भी पिता जैसा बन पाए तो बेहतर होगा

चंडीगढ़ में युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह से लिया प्रशिक्षण

अर्जुन तेंदुलकर टीम इंडिया के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के बेटे हैं। ऐसे में अर्जुन तेंदुलकर को कई अंतरराष्ट्रीय कोचों से काफी मदद मिलती रहती है। हाल ही में अर्जुन तेंदुलकर चंडीगढ़ में युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह के अधीन प्रशिक्षण ले रहे थे। प्रतिष्ठित विजय हजारे ट्राफी में गोवा का प्रतिनिधित्व करते हुए अर्जुन ने अपने पिछले पांच मैचों में पांच विकेट लिए हैं।

कई दफा साबित कर चुके हैं अपनी काबिलियत

इससे पहले, उन्होंने सैयद मुश्ताक अली ट्राफी में भी अच्‍छा प्रदर्शन किया था, जिसमें उन्होंने पांच मैचों में आठ विकेट चटकाए थे। विजय हजारे ट्राफी में लिए 10 विकेट: सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के बाद अब अर्जुन तेंदुलकर विजय हजारे ट्राफी में गोवा के लिए उन्होंने 7 मैचों में 5.69 की इकानमी रेट से 10 विकेट लिए।

Arjun Tendulkar: युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह के शिष्य बने अर्जुन तेंदुलकर, सीख रहे क्रिकेट के गुर

Edited By: Arijita Sen

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट