जमशेदपुर, जासं।  झारखंड की स्वर्णपरी दीपिका कुमारी ने टाटा स्टील को 'टाटा' कह दिया है। अब वह भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) में सेवा देंगी। जमशेदपुर के जेआरडी टाटा स्पोट्र्स कांप्लेक्स में यह जानकारी खुद दीपिका कुमारी ने मीडिया से साझा की। 

दीपिका कुमारी के मंगेतर अतानु दास भी जाने-माने अंतरराष्ट्रीय तीरंदाज हैं और वह फिलहाल बीपीसीएल में ही कार्यरत हैं। फिलहाल वे कोलकाता में ही पदस्थापित हैं। फरवरी तक यह स्टार तीरंदाज जोड़ी शादी के बंधन में बंध जाएंगी। इसके बाद दोनों का कोलकाता में बसने की योजना है। फिलहाल बीपीसीएल में दीपिका एक साल तक प्रोबेशन अवधि में रहेंगी। उसके बाद उन्हें स्थायी किया जाएगा।

कही भावनात्मक बातें

दीपिका ने कहा कि टाटा स्टील एक तरह से उनके लिए मायका के सामान है और कोलकाता ससुराल। मायके की यादें हमेशा अविस्मरणीय होती है। टाटा स्टील ने न सिर्फ मुझे अंतरराष्ट्रीय फलक पर पहचान दी, बल्कि अर्जुन पुरस्कार से लेकर पद्मश्री जैसे सर्वोच्च सम्मान भी मिला। टाटा की इस धरती को मैं कभी नहीं भूल पाऊंगी।

टाटा स्टील ने दी शुभकामनाएं

चाणक्य चौधरी (उपाध्यक्ष, कॉरपोरेट कम्युनिकेशंस, टाटा स्टील) ने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि बहुमुखी प्रतिभा की धनी झारखंड की स्वर्णपरी नई उड़ान भरने को तैयार है। हर चुनौती को पार करने के लिए एक 'ट्रिगर' की जरूरत होती है। 'ट्रिगर' दबाते ही तीर निशाने पर लगती है। बस ऐसा ही है। दीपिका सफलता की नई गाथा गढऩे को तैयार है। 

Posted By: Rakesh Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप