जमशेदपुर, जासं।  राज्य में कोरोना पॉजिटिव मरीज के सामने आने और उनमें से तीन के तब्लीगी जमात से जुड़े होने पर मुस्लिम समाज में भी काफी सतर्कता बरती जा रही है। लोग पहले से ज्यादा एहतियात बरतने लगे हैं और मुस्लिम इलाकों में भी लॉकडाउन में सन्नाटा दिखाई दे रहा है। वहीं मुस्लिम समाज के कुछ लोगों ने आगे आकर लोगों से अपील की है कि अगर कोई उनके इलाके में निजामुद्दीन मरकज से होकर आया है तो खुद जिला प्रशासन से संपर्क कर अपनी जांच कराए। ताकि कोरोना वायरस के फैलाव को आगे बढ़ने से रोका जा सके।

झारखंड में पहले कोरोना का कोई भी मरीज नहीं था। लेकिन रांची में निजामुद्दीन मरकज से लौटी मलेशिया की एक महिला पॉजिटिव पाई गई। यह प्रदेश का पहला मामला था। हिंदपीढ़ी में अभी दूसरी जो महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है, यह भी मलेशियाई महिला के संपर्क में थी। जानकारों का मानना है कि अगर दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से लौटी मलेशिया की पहली महिला जागरूक होती और खुद उसने अपनी जांच कराई होती तो हिंदपीढ़ी इलाके में यह नौबत नहीं आती। इसीलिए लोगों का कहना है कि अभी भी लोग संभल जाएं और जो लोग भी दिल्ली निजामुद्दीन मरकज से होकर यहां आए हैं या यहां आने वालों के संपर्क में आए हैं। वह खुद जिला प्रशासन से मिलकर अपनी जांच कराएं और क्वारंटाइन में रहें।

इन्‍होंने की अपील

हमें देश और समाज की भलाई के लिए आगे आना होगा। जो लोग भी निजामुद्दीन मरकज से आई जमात के लोगों में से हैं या उनके संपर्क में रहे हैं। वे खुद चाहिए कि आगे बढ़ कर जिला प्रशासन से संपर्क कर अपनी जांच कराएं और क्वारंटाइन में रहें।

-निसार, आजाद नगर

हमें समाज और देश का ख्याल रखना ही होगा। कोरोना एक महामारी है। इसलिए हमें अलर्ट रहना होगा। जमात से जुड़े लोगों से अपील है कि अगर वह दिल्ली से लौटे हैं या फिर जमात के किसी साथी के संपर्क में रहते हैं तो अपनी जांच कराएं।

-फातिमा शाहीन, सहारा सिटी मानगो

जमात के लोग खुद समझदार हैं। कोरोना एक महामारी है। इसलिए इससे एहतियात जरूरी है। जो लोग दिल्ली से आए हैं या जमात के कार्यक्रम में रहे हैं। वह खुद क्वारंटाइन में चले जाएं। जिला प्रशासन से संपर्क करें। यह सबके हित में होगा।

-मो शमीम, उलीडीह

जमात के लोगों को खुद ही समझदारी का परिचय देते हुए अपनी जांच करानी चाहिए। अगर वह दिल्ली से होकर आए हैं या जमात के कार्यक्रम में रहे हैं, तो उनकी जिम्मेदारी बढ़ जाती है। जांच कराएं। हम एक समाज में रहते हैं और सबकी फिक्र करना हमारा फर्ज है।

-वसीम अहमद, धतकीडीह

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस