जागरण संवाददाता, जमशेदपुर। पिछले 15 साल से एक अदद अंतरराष्ट्रीय मैच की बाट जोह रहा कीनन स्टेडियम फिर गुलजार होगा। भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआइ) के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी ने बुधवार को बताया कि कीनन में जल्द ही अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैच होंगे। इसके लिए टाटा स्टील प्रबंधन से बात चल रही है। बिष्टुपुर के माइकल जॉन ऑडिटोरियम में आयोजित उद्यमिता कार्यशाला 'शिखर' में भाग लेने पहुंचे अमिताभ ने समय सीमा तो नहीं बताया, लेकिन यह आश्वासन जरूर दिया कि कीनन स्टेडियम का पुनरुद्धार का काम जल्द शुरू किया जाएगा।

करीब दो साल पहले टाटा स्टील ने झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन (जेएससीए) को यह प्रस्ताव दिया था कि अगर वह सहयोग करे तो कीनन को अपग्रेड कर इसे अंतरराष्ट्रीय मैच के लिए तैयार किया जा सकता है। तत्कालीन अध्यक्ष अमिताभ चौधरी व सचिव राजेश वर्मा की टाटा स्टील के प्रतिनिधि सुनील भास्करन से भी बात हुई थी। सबलीज का तकनीकी पेंच फंसने के कारण पूर्व में बात आगे नहीं बढ़ पाई थी। यह पहला मौका नहीं है, जब अमिताभ चौधरी ने कीनन स्टेडियम को पुनर्जीवित कहने की बात कही है। पहले भी अमिताभ चौधरी कीनन में अंतरराष्ट्रीय मैच कराने का वादा कर चुके हैं। 2002 से पहले झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन (पूर्ववर्ती बिहार क्रिकेट एसोसिएशन) का अध्यक्ष टाटा स्टील का कोई अधिकारी ही मनोनीत होता था।

रूसी मोदी से लेकर जेजे ईरानी तक इसके अध्यक्ष रहे। लेकिन 2002 में अमिताभ चौधरी के अध्यक्ष बनने के साथ ही टाटा स्टील व झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन के बीच खटास बढ़ने लगी। तब जेएससीए के पास अपना स्टेडियम नहीं था। एक समय ऐसा भी आया जब टाटा स्टील ने कीनन स्टेडियम में किसी अंतरराष्ट्रीय मैच की मेजबानी के लिए मना कर दिया। ऐसे में राज्य क्रिकेट संघ ने रांची में अपना ठिकाना बनाया और 300 करोड़ की लागत से अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्टेडियम बनाया। कीनन स्टेडियम में अंतिम बार कीनन स्टेडियम में 2006 में भारत व इंग्लैंड के बीच अंतरराष्ट्रीय एक दिवसीय मैच हुआ था, जिसमें इंग्लैंड ने पांच विकेट से जीत हासिल की थी। वेस्ट इंडीज क्रिकेट के किवदंती रह चुके कालीचरण, विवियन रिच‌र्ड्स, गैरी सोबर्स कीनन स्टेडियम में शतक जमा चुके हैं।