जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। मंत्री सरयू राय के निर्देश पर खाद्य आपूर्ति विभाग के सचिव के साथ रांची के आलू-प्याज के थोक व्यवसायियों की बैठक बुधवार को रांची में हुई। इसके पूर्व दोपहर में मंत्री सरयू राय ने जमशेदपुर के कृषि बाजार समिति जाकर आलू-प्याज के थोक व्यवसायियों के साथ प्याज की कीमत में अचानक वृद्धि पर चर्चा की।

इसके बाद मंत्री सरयू राय ने कहा कि प्याज की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए प्रशासन द्वारा कई कदम उठाए जाएंगे। इनमें सुविधा केंद्रों से सस्ता प्याज बिकवाना, नाफेड से प्याज मंगवाना और अन्य राज्यों से प्याज की आपूर्ति तेज करवाना शामिल है। प्याज की बढ़ी कीमतों के मद्देनजर प्याज के थोक और खुदरा भाव में अंतर कम कराने का हर संभव प्रयास किया जाएगा। इसमें राज्य के व्यवसायी भी सहयोग करने के लिए तैयार हैं। राज्य के विभिन्न जिलों में यह अंतर न्यूनतम स्तर पर लाने हेतु प्रशासनिक उपाय करने का निर्देश मंत्री सरयू राय ने विभागीय अधिकारियों को दिया है।

इधर, परसुडीह बाजार समिति में व्यवसायियों ने मंत्री सरयू राय को बताया कि विभिन्न श्रेणी के प्याज की कीमतों में अचानक वृद्धि तात्कालिक कारणों से है और सप्ताह के भीतर कीमतें नीचे आ जाएंगी। इस बीच राजस्थान, कर्नाटक एवं दक्षिण के अन्य राज्यों से भी प्याज की आवक शुरू हो गई है। यह प्याज के मूल्य नियंत्रण में सहायक होगा।

महाराष्ट्र में अचानक बारिश होने के कारण खराब हुआ प्‍याज

महाराष्ट्र में लगातार तीन दिनों से अचानक बारिश होने के कारण भंडारित प्याज में नमी आ जाने से बड़ी मात्रा में प्याज खराब हो गई।  इसके अलावा कतिपय राज्य सरकारों ने वहां पर प्याज का भंडारण कर रखा है, पर उठाया नहीं है। वह प्याज भी सड़कर खराब हो गया जो तात्कालिक मूल्यवृद्धि का कारण है।

झारखंड की 20 मंडियों में फिलहाल 5400 क्विंटल भंडार

झारखंड की 20 मंडियों में फिलहाल 5400 क्विंटल प्याज का भंडार है। सबसे ज्यादा भंडार रांची में 2200 क्विंटल और सबसे कम गढ़वा में 20 क्विंटल प्याज की सूचना राज्य के अधिकृत सूत्रों से मिली है। प्याज का थोक भाव डालटेनगंज, लोहरदगा, कोडरमा में 6500 रुपये प्रति क्विंटल और सबसे कम थोक भाव पाकुड़ में 3500 रुपये, गोड्डा में 4200 रुपये, टिकुलियां में 4500 रुपये प्रति क्विंटल बुधवार को रहा।

प्याज के थोक और खुदरा भाव में सर्वाधिक अंतर 1500 रुपये से 1800 रुपये प्रति क्विंटल झारखंड के करीब 10 जिलों में रहा है। इनमें रांची, जमशेदपुर, डालटेनगंज, लोहरदगा, जामताड़ा, दुमका, गोड्डा आदि शामिल है। थोक और खुदरा भाव में सबसे कम अंतर 500 से 800 रुपये प्रति क्विंटल राज्य के नो जिलों में रहा। इनमें धनबाद, गुमला, पाकुड़, चतरा, कोडरमा, हजारीबाग आदि शामिल हैं।

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस