जमशेदपुर, जागरण संवाददाता।  मंत्री सरयू राय ने कहा है कि जमशेदपुर के विद्युत कार्यपालक अभियंता ने मानगो के गजाडीह में निर्माणाधीन पावर सबस्टेशन के लिए भूमिगत केबुल बिछा रही कंपनी वोल्टास के ठेकेदार द्वारा किए जा रहे काम की जांच की है। पाया है कि कंपनी द्वारा नियुक्त ठेकेदार का काम घटिया है। कार्यपालक अभियंता ने इसके लिए वोल्टास को नोटिस दिया है और घटिया काम को ठीक करने का निर्देश दिया है।

मंत्री सरयू राय ने गत रविवार को अपने विधानसभा क्षेत्र में हो रहे कार्यों की जानकारी लेने के लिए संबंधित विभाग के अफसरों के साथ सर्किट हाउस में बैठक की थी। इसमें उपायुक्त भी शामिल थे। बैठक में मंत्री राय ने कहा था कि उन्हें गजाडीह पावर सबस्टेशन में भूमिगत केबुल डालने का काम घटिया होने की सूचना मिली है। पता चला है कि जितनी गहराई में केबुल डालना चाहिए, उसकी आधी गहराई मे केबुल डाला जा रहा है। केबुल को बालू, ईंट और सीमेंट की मजबूत परत से ढका जाना चाहिए ताकि केबुल सुरक्षित रहे। किसी अन्य कार्य हेतु खुदाई मे इसे नुकसान न पहुंचे और इस कारण दुर्घटना न हो। उन्होंने दो दिन के भीतर जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश कार्यपालक अभियंता को दिया था।

विधानसभा सत्र समाप्त होने के बाद होगी समीक्षा

कार्यपालक अभियंता ने मंगलवार को मंत्री को जांच के नतीजे से अवगत कराया और कहा कि घटिया काम को ठीक करने के लिए वोल्टास को निर्देश दिया गया है। इसके लिए दोषी पर कारवाई होगी। मंत्री राय ने घटिया काम करने वाले संवेदकों के साथ कड़ाई से पेश आने का निर्देश दिया है और कहा है कि उनके विधानसभा क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों की गुणवता पर अधिकारी नजर रखें और कोई भी काम घटिया हो रहा है तो कार्रवाई करें। मंत्री राय ने कहा कि वैसे ही बिजली उपभोक्ताओं को रुला रही है। यदि आरएपीडीआरपी के अंतर्गत हो रहे बिजली के काम घटिया होंगे तो इसका खामियाजा जनता को, खासकर भावी पीढ़ी को भुगतनना पड़ेगा। उन्होंने कहा है कि अगले सप्ताह विधानसभा सत्र समाप्त होने के बाद वे जमशेदपुर पश्चिम में हो रहे विद्युत विकास के कार्यों की गहन समीक्षा करेंगे। 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस