जमशेदपुर, जागरण संवाददाता : पूर्वी सिंहभूम जिले के जुगसलाई में धोखे से होटल में ले जाने और वहां शादी का झांसा देकर यौन शोषण किए जाने के मामले सामने आए हैं। घटना 20 नवंबर की है और पुलिस मामले को टालते रही। मामला वरीय पुलिस अधिकारियों तक पहुंचने के बाद 25 नवंबर को युवती की शिकायत पर राकेश कुमार के खिलाफ शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किए जाने की प्राथमिकी दर्ज की गई है। घटना के बाद से आरोपित फरार है। युवती ने पुलिस को बताया आरोपित उसका परिचित है। उसे आरोपित स्टेशन रोड स्थित एक होटल में ले गया। वहां शादी का झांसा देकर यौन शोषण किया। पुलिस ने युवती की एमजीएम अस्पताल में मेडिकल जांच कराई।

जमशेदपुर के गोविंदपुर में हरवे-हथियार से लैश

टाटानगर स्टेशन के बर्मामाइंस छोर की ओर सेकंड एंट्री गेट का निर्माण होना है। इसके लिए शुक्रवार सुबह फुट ओवरब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए स्टेशन के लाइन नंबर छह से 9 तक पावर ब्लॉक लिया गया है। इस दौरान उक्त सभी लाइन पर ट्रेनों की आवाजाही नहीं होगी। टाटानगर रेलवे स्टेशन में बर्मामाइंस छोर की ओर एक नया सेकेंड इंट्री गेट बनना है जिसका निर्माण कार्य फरवरी 2022 तक पूरा होना है। इस एंट्री गेट को फुट ओवरब्रिज से जोड़ा जाना है। फुट ओवर ब्रिज का काम स्टेशन के पांच नंबर प्लेटफार्म तक पूरा हो चुका है जबकि छह से आगे तक की लाइन के ऊपर यह ब्रिज का निर्माण किया जाना है । इसके लिए शुक्रवार सुबह पौने छह घंटे का पावर ब्लॉक लिया गया है।

संविधान दिवस पर भाजपा ने आमबगान से पुराना कोर्ट गोलचक्कर तक निकाली पदयात्रा

संविधान दिवस पर शहर में भारतीय जनता पार्टी ने पदयात्रा निकाली, जो साकची स्थित आमबगान मैदान से साकची में ही पुराना कोर्ट गोलचक्कर तक गई। वहां संविधान निर्माता बाबा साहेब डा. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया।  भाजपा, अनुसूचित जाति मोर्चा के तत्वावधान में निकाली गई। इस पदयात्रा में भाजपा, जमशेदपुर महानगर के पूर्व जिलाध्यक्ष व धनबाद के संगठन प्रभारी अभय सिंह भी शामिल हुए। अभय ने कहा कि भाजपा संविधान दिवस को गौरव दिवस के रूप में मना रही है। इस पदयात्रा में भारतीय जनता पार्टी के जिलास्तरीय पदाधिकारी शामिल थे। पदयात्रा के दौरान जय भीम, जय बाबा साहब आंबेडकर का नारा लगाते हुए संविधान सभा की जय का उद्घोष करते हुए डा. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा स्थल तक पहुंचे, जहां माल्यार्पण कार्यक्रम हुआ। पुराना कोर्ट गोलचक्कर पर भाजपा के अलावा तमाम राजनीतिक व सामाजिक संगठनों की ओर से बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया।

आज ही के दिन पारित हुआ था संविधान

अभय सिंह ने बताया कि आज के ही दिन 26 जनवरी 1950 को भारतीय संसद ने बहुमत से सांसद के अंदर की संविधान सभा ने सर्वसम्मति से डा. भीमराव आंबेडकर के नेतृत्व में संविधान का प्रारूप तैयार किया था। यह प्रारूप तैयार होने में 2 वर्ष 11 महीने 13 दिन का समय लगा था। डा. भीमराव आंबेडकर संविधान सभा सांसद समिति से भारत के संसद में प्रस्ताव बहुमत से पारित किया था। 2 महीने बाद जाकर 26 जनवरी 1950 को यह भारत का कानून बना। न्यायपालिका विधायिका पत्रकारिता के साथ ही कार्यपालिका के कार्य को आधार में बांटा गया और तब से यह संविधान लागू हुआ था। 2015 को डा. भीमराव आंबेडकर की 125वीं वर्षगांठ पर भारत सरकार ने इस दिन को ऐतिहासिक दिन के रूप के रूप में परिवर्तित किया और भारतीय जनता पार्टी इस दिन को गौरव दिवस एवं संविधान दिवस के रूप में घोषित किया है। भाजपा पूरे सप्ताह गौरव दिवस के रूप में संविधान दिवस मनाएगी।

Edited By: Rakesh Ranjan