सरायकेला, जेएनएन। जमशेदपुर से सटे सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्‍यपुर के व्‍यक्ति की हत्‍या महज एक सिक्‍के के लिए कर दी गई थी। व्‍यक्ति के पास हनुमान जी का एक सिक्‍का था। उसे हासिल करने के लिए एक ओझा और चार लोगों ने बेरहमी से मार डाला था। पुलिस ने मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार लोगों में एक पारा शिक्षक भी है। पुलिस सबों से पूछताछ कर रही है। 

आदित्‍यपुर के डी रोड का बागुन सोय परिजन को बीमारी से मुक्ति दिलाने के लिए ओझा-गुनी से पूजा पाठ कराने राजनगर के बाना गांव गया था। तांत्रिक गणेश लोहार ने बागुन सोय को कहा कि सिक्का में जान डालने के लिए इसे रखकर मुर्गे की बलि देनी होगी। इसके बाद बागुन को लेकर नदी किनारे ले गया और वहीं पर मुर्गे की जगह बागुन की ही बलि दे दी। उसके बाद शव को छोड़कर सभी चलते बने। बागुन सोय का शव सोमवार को टेंटोंपोसी से राजनगर के कोलाबड़िया जाने वाले मार्ग पर मिला था। उसकी गर्दन धड़ से लगभग अलग थी। जिससे आशंका व्यक्त की जा रही थी पीछे से गर्दन पर वार किया गया। अब जबकि पुलिस ने हत्‍या में शामिल लोगों को दबोच लिया है, सही बात सामने आ गई है। 

सीमा विवाद में उलझ गई थी पुलिस

सोमवार को पुल के नीचे शव होने की सूचना पर सरायकेला और राजनगर थाने की पुलिस पहुंची थी, लेकिन सीमा विवाद को लेकर उलझ गई। मुख्यालय डीएसपी चंदन कुमार वत्स और सरायकेला एसडीपीओ राकेश रंजन की उपस्थिति में अमीन ने जमीन की नापी की। उसके बाद सरायकेला थाने की पुलिस ने शव को कब्जे में लिया। पुलिस मृतक की पत्नी की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच में जुट गई। घटना को रविवार देर रात एक डेढ़ बजे आसपास अंजाम दिया गया। 

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस