जमशेदपुर, जासं। जिला प्रशासन की ओर से सर्किट हाउस एरिया  स्थित निर्मल भवन में 105 करोड़ रुपए की प्राक्कलित राशि की कुल 44 योजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास सांसद विद्युत वरण महतो, पोटका विधायक मेनका सरदार, घाटशिला विधायक लक्ष्मण टुडू, बहरागोड़ा विधायक कुणाल षाड़ंगी एवं उपायुक्त  रविशंकर शुक्ला की उपस्थिति में किया गया। पूर्वी सिंहभूम जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों हेतु आज विकास योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन किया गया।

गांव-गरीब तक विकास योजनाओं को पहुंचाना लक्ष्य : विद्युत वरण महतो

सांसद विद्युत वरण महतो ने कहा कि जिला प्रशासन के साथ बेहतर समन्वय स्थापित कर हम सभी जनप्रतिनिधि प्रयास करते हैं कि विकास की योजनाओं को धरातल पर उतारा जाए। हमारी कोशिश होती है कि सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं से गांव-गरीब का विकास हो। मुख्यमंत्री सेतु योजना के तहत कई पुल-पुलिया का शिलान्यास-उद्घाटन आज किया गया। उम्मीद है इन योजनाओं के सफल क्रियान्वयन से लोगों की कई परेशानियों का समाधान हो जाएगा।  

गांव-गांव पहुंच रही विकास की बयार : मेनका सरदार

पोटका की विधायक मेनका सरदार ने कहा कि राज्य सरकार की कोशिश है कि ऐसा कोई गांव ना हो जहां लोगों को आने-जाने में दिक्कत का सामना करना पड़े। सरकार द्वारा संचालित की जा रही कई जनकल्याणकारी योजनाओं से आज सड़क, बिजली एवं पानी की सुविधाएं ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचाई जा रही हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में निवास कर रहे लोगों के जीवन स्तर में गुणात्मक सुधार लाने हेतु राज्य सरकार कटिबद्ध है। 

 विकसित झारखंड के निर्माण में सभी की सहभागिता जरूरी : लक्ष्मण टुडू

घाटशिला के विधायक लक्ष्मण टुडू ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा संचालित की जा रही कई जनकल्याणकारी योजनाओं से आज लोगों के जीवन में गुणात्मक बदलाव आया है। गांव-गांव में स्ट्रीट लाईट, पेयजल एवं सड़क का जाल बिछाया जा रहा है। आज के इस कार्यक्रम में वैसी कई योजनाओं का शिलान्यास-उद्घाटन किया गया है जिसकी मांग काफी समय से लोग कर रहे थे। इन योजनाओं के सफल क्रियान्वयन की जिम्मेवारी जनप्रतिनिधि, प्राशसनिक अधिकारी के साथ-साथ जनता की भी है। विकसित झारखंड के निर्माण में हम सभी की सहभागिता जरूरी है।        

इन योजनाओं के क्रियान्वयन से कई गांव मुख्यधारा से जुड़ सकेंगे- कुणाल षाड़ंगी

बहरागोड़ा के विधायक कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि इन योजनाओं में ब्राह्मी पुल बनाने की दशकों पुरानी मांग भी शामिल है, जिसके सफल क्रियान्वयन से कई गांव जो बरसात के दिनों में टापू बन जाते थे, वे अब मुख्यधारा से जुड़ सकेंगे। षाड़ंगी ने कहा कि मुख्यमंत्री का धन्यवाद जिन्होंने दर्जन भर पुल-पुलिया के निर्माण की स्वीकृति दी है। प्राशासनिक पदाधिकारियों एवं संवेदकों से आग्रह है कि इन योजनाओं की गुणवत्ता पर खास ध्यान रखें, क्योंकि इन योजनाओं से लोगों का विश्वास जुड़ा होता है, वो नहीं टूटना चाहिए।     

ये रहे मौजूद

 इस अवसर पर उपविकास आयुक्त  विश्वनाथ माहेश्वरी, जिला योजना पदाधिकारी अजय कुमार समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप