जमशेदपुर, जासं। कोरोना काल के बाद आईटी कंपनियों का जलवा सातवें आसमान पर है। तेजी से बढ़ती मांग की वजह से देश की नामी आईटी कंपनियों में इस साल करीब 1.60 लाख कर्मचारियों की जरूरत महसूस की जा रही है। इसके लिए बहाली की तैयारी भी चल रही है। भारत के चार बड़े सॉफ्टवेयर निर्यातक टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस), इंफोसिस, विप्रो व एचसीएल में लगभग 1.60 लाख कर्मचारियों को बहाल करने की सोच रही हैं।

देश की सिर्फ ये चार आईटी सेवा कंपनियां मिलकर देश के करीब साढ़े चाल लाख तकनीकी विशेषज्ञों में चौथाई से अधिक को रोजगार देती हैं। इन कंपनियों ने 2021 के पहले छह महीनों में करीब एक लाख लोगों को काम पर रखा था, जिसमें नए और अनुभवी दोनों किस्म के कर्मचारी शामिल थे। ये चार कंपनियां बड़े नए सौदों और परियोजना की संभावना को देखते हुए कर्मचारियों की कमी महसूस कर रही हैं।

टीसीएस में दोगुने हो सकते कर्मचारी

राजस्व और बाजार पूंजीकरण के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी आईटी सेवा कंपनी टीसीएस या टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने पिछले सप्ताह संभावित नियुक्ति का अनुमान 43,000 से बढ़ाकर 78,000 कर दिया। कंपनी की नौकरी छोड़ने की दर पहली तिमाही के 8.6 प्रतिशत से बढ़कर 30 सितंबर को समाप्त तिमाही में 11.9 प्रतिशत हो गई।

इंफोसिस में भी बढ़ी प्रतिभा की मांग

इंफोसिस ने व्यापक आधार वाली मांग पर भौगोलिक और कार्यक्षेत्रों में अपने राजस्व पूर्वानुमान को बढ़ाया है और इसलिए प्रतिभा की मांग भी बढ़ी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी के सीओओ प्रवीण राव ने कहा है कि जिस तरह की मांग हम देख रहे हैं वह असामान्य रूप से अधिक है। पिछली बार जब हमने देखा था कि इस तरह की मांग 2010 या उससे भी पहले की है। वेतन वृद्धि और प्रोन्नति के एक और सेट के बावजूद कर्मचारियों की छंटनी अधिक रही। जून के अंत में कंपनी का एट्रिशन 13.8 प्रतिशत से बढ़कर दूसरी तिमाही में 20 प्रतिशत से अधिक हो गया। कंपनी ने पहले के 35,000 के अनुमान से 45,000 फ्रेशर्स को लेने की योजना बनाई है।

विप्रो रख सकती करीब 17 हजार फ्रेशर्स

विप्रो ने तिमाही के दौरान 11,745 कर्मचारियों को काम पर रखा था, जिसमें से 8,000 फ्रेशर थे। अब कंपनी ने चालू वित्त वर्ष में करीब 17,000 फ्रेशर्स को नियुक्त करने का लक्ष्य रखा है। मुख्य कार्यकारी थियरी डेलापोर्ट के अनुसार इसका लक्ष्य अगले साल करीब 30,000 फ्रेशर्स नियुक्त करना है। फ्रेशर्स को ज्वाइनिंग ऑफर के हिस्से के रूप में, इंफोसिस अब उन्हें लंबी अवधि के लिए बनाए रखने के लिए पांच साल की क्षतिपूर्ति योजना का विवरण प्रदान करती है। स्पष्ट रूप से, उद्देश्य यह है कि जब आप एक फ्रेशर होते हैं, तो आपको तीन साल बाद यह महसूस नहीं करना चाहिए कि यह 10 प्रतिशत से अधिक इंक्रीमेंट बढ़ाने का समय है। विप्रो भी करीब 17,000 फ्रेशर्स रखने की तैयारी में है, क्योंकि दोनों कंपनियों के लिए एट्रिशन 20 प्रतिशत तक पहुंच गया।

एचसीएल में सबसे अधिक कर्मचारी

एचसीएल टेक्नोलॉजीस में अब तक सबसे अधिक कर्मचारी हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में 11,125 कर्मचारियों के साथ अपने इतिहास में शुद्ध कर्मचारियों की संख्या में सबसे अधिक वृद्धि देखी गई। इसके बावजूद एचसीएल अभी और भी नई भर्ती करने की सोच रही है।

Edited By: Jitendra Singh