जमशेदपुर : थायराइड पुरूषों की अपेक्षा महिलाओं में ज्यादा देखने को मिलता है। इसे नियंत्रित करने के लिए हमें खाने-पीने पर ध्यान देना चाहिए। ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थ है जिसके सेवन करने से थायराइड नियंत्रित रहता है। इनमें से एक है धनिया। एमजीएम मेडिकल कॉलेज व अस्पताल की डायटीशियन अनु सिन्हा बताती हैं, थायराइड को नियंत्रित करने के लिए धनिया काफी हद तक फायदेमंद है। धनिया में डाइटरी फाइबर होता है। इअन्य पोषक तत्वों की बात करें तो धनिया में विटामिन सी भी प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है।

सब्जी या चावल में गॉर्निशिंग के तौर पर धनिया डालकर ज्यादातर लोग खाते हैं जो हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। खासकर थायराइड रोगियों को अपने खाने-पीने में धनिया जरूर शामिल करन चाहिए।

थायराइड में धनिया खाने से ये है फायदे

  • धनिया सेवन से वजन कम होता है।
  • थायराइड के दौरान धनिया का सेवन से हड्डियों में होने वाले दर्द से राहत मिलती है।
  • हाइपोथाराइडिज्म को नियंत्रित करने के लिए धनिया लाभप्रद है।
  • धनिया में एंटी ऑक्सीडेंट्स गुण होते हैं, जिससे थायराइड रोगियों को डिप्रेशन नहीं होता है।
  • ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से भी थायराइड बढ़ सकता है। धनिया का सेवन करने से ब्लड शुगर नियंत्रित रहता है।
  • धनिया का सेवन करने से हेयर थिनिंग की समस्या से भी निजात मिलता है।

धनिया के बीज का पानी भी फायदेमंद

धनिया के बीज का पानी पीने से भी थायराइड कंट्रोल में रहता है। इसे बनाने के लिए दो चम्मच धनिया को एक ग्लास पानी में रात भर के लिए भिंगोकर रखना है। धनिया को अपनी सब्जी में भी मिलाकर खा सकते हैं। धनिया डाइजेशन को दुरुस्त करने में भी मदद करता है।

थायराइड नियंत्रित करने के लिए धनिया के जूस का सेवन भी लाभप्रद है। रोज सुबह खाली पेट धनिया का जूस का सेवन करना चाहिए। दो से तीन सप्ताह तक रोजाना धनिया का जूस पीने से थायराइड नियंत्रित हो जाता है।

जानें कैसे पाएंगे धनिया का जूस

  • धनिया का जूस बनाने के लिए पहले धनिया की ताजी पत्तियों को तोड़कर साफ करना है।
  • धनियों की पत्तियों को मिक्सी में डालेंगे और थोड़ा सा पानी मिलाएंगे।
  • मिक्सी में चुटकी भर नमक व मिर्च मिलाना है।
  • सभी सामग्री को डालकर मिक्सी चलाना है।
  • जो जूस तैयार होगा उसमें ऊपर से नींबू का रस मिलाकर पी लेना है।

Edited By: Jitendra Singh