जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टाटा स्टील की 100 प्रतिशत अनुषंगी इकाई, टाटा स्टील लांग प्रोडक्ट (पूर्व में ऊषा मार्टिन) में शनिवार को बोनस समझौता हुआ। वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए कर्मचारियों को 13 प्रतिशत बोनस मिलेगा। जिसमें अधिकतम 37,919 रुपये, न्यूनतम 24,954 रुपये और औसतन 31,558 रुपये मिलेंगे। कर्मचारियों को बोनस का पैसा इस माह के अंत तक कंपनी प्रबंधन सभी के बैंक खाते में भेज देग।

टाटा स्टील लांग प्रोडक्ट पर कोविड 19 का प्रभाव रहा। जिसके कारण उत्पादन भी प्रभावित हुआ था। इसके बावजूद यूनियन ने पिछले वर्ष की तुलना में 4.47 प्रतिशत अधिक बोनस करने में कामयाब रही। कंपनी में पिछली बार 8.53 प्रतिशत बोनस हुआ था जबकि इस वर्ष यूनियन नेतृत्व के प्रयास से कर्मचारियों को 13 प्रतिशत बोनस मिलेगा। कंपनी प्रबंधन 853 कर्मचारियों को 2.66 करोड़ रुपये बोनस देगी। बोनस समझौते पर कंपनी प्रबंधन की ओर से टाटा स्टील लांग प्रोडक्ट के प्रबंध निदेशक आशीष अनुपम, संजय श्रीवास्तव, देवाशीष मजुमदार, चीफ एचआर आईआर मुकेश अग्रवाल, हेड एचआर देवी प्रसाद पंथाला व अतुल शर्मा ने हस्ताक्षर किया। वहीं, यूनियन की ओर से टाटा कामगार यूनियन के अध्यक्ष बीके डिंडा, यूनियन के सलाहकार विजय खां, कार्यकारी अध्यक्ष राजकुमार प्रधान, महामंत्री अजय दास, लक्ष्मण साहू, लव कुमार, कोषाध्यक्ष सुभाष चंद्र दास ने हस्ताक्षर किया। टाटा स्टील लांग प्रोडक्ट (ऊषा मार्टिन) में एतिहासिक बोनस समझौता होने पर कर्मचारियों में हर्ष का माहौल है। कर्मचारियों ने प्रबंधन के वरीय अधिकारियों के अलावा यूनियन नेतृत्व को बेहतर बोनस के लिए आभार व्यक्त किया।

बोनस के पैसों का करें सही इस्तेमाल

टाटा स्टील में इस वर्ष एतिहासिक बोनस समझौता हुआ है। कंपनी के सभी कर्मचारी अपने घर-परिवार के साथ अच्छी तरह से बोनस मनाएं। साथ ही भविष्य के लिए भी बोनस के पैसों को सहेज कर रखे जो आपके बच्चों की पढ़ाई में काम आएगा।

-विजय खां, सलाहकार, टाटा कामगार यूनियन

Edited By: Rakesh Ranjan