जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। न्यूवोको विस्टास कॉर्प लिमिटेड जोजोबेड़ा सीमेंट प्लांट के कर्मचारियों के 2020-21 के सालाना बोनस पर कंपनी प्रबंधन व यूनियन के बीच समझौता हो गया। फार्मूले के तहत सुरक्षा पर सात प्रतिशत, उत्पादन पर सात व मुनाफा पर छह प्रतिशत बोनस बनता था। वर्ष 2020-21 में फार्मूले के हिसाब से सुरक्षा पर सात, उत्पादन पर 6.81 प्रतिशत हुआ। जबकि मुनाफे पर कोई बोनस नहीं बन रहा था। कोरोना काल की वजह से कंपनी का मुनाफा अपेक्षा से बहुत ही कम हुआ।

इस तरह फार्मूला के हिसाब से बोनस 13.81 प्रतिशत हो रहा था। लेकिन यूनियन अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय व पूरी टीम के आग्रह पर प्रबंधन ने पांच फीसद बोनस बढ़ा दिया। अंतत: प्रबंधन-यूनियन के बीच कर्मचारियों के लिए 18.81 प्रतिशत बोनस पर सहमति बनी। कर्मचारियों को दी जाने वाली बोनस की न्यूनतम राशि 62,991, अधिकतम 1,76,866 रुपए है। जबकि औसत बोनस की राशि 1,23,840 रुपए है। बोनस की राशि एक अक्टूबर तक कर्मचारियों के बैंक खाते में चली जाएगी। समझौते पर हस्ताक्षर प्रबंधन पक्ष से जोजोबेड़ा सीमेंट प्लांट से हेड उमा सूर्यम, सीनियर वीपी एचआर-आईआर संदीप पांउेय, जीएम मनीष डाकवे, डीजीएम अभिजीत मंडल, अनिल गोस्वामी, राहुल चटर्जी, यूनियन से राकेश्वर पांडेय, विनय त्रिवेदी, बिजय खां, संजीव श्रीवास्तव,पीवीआर मूर्ति, सनील शुक्ला आदि ने हस्ताक्षर किए।

टाटा मोटर्स कैंटीन कर्मियों को मिलेगा 12,001 रुपए बोनस

 टाटा मोटर्स कैंटीन कर्मचारियों का बोनस समझौता 2020-21 हो गया। समझौते के मुताबिक टाटा मोटर्स वर्क्स व हॉस्पिटल के कैंटीन कर्मियों को कुल 12,001 रुपए मिलेंगे। बीते साल इन कर्मचारियों को 11,600 बोनस मिला था। बोनस समझौते पत्र पर प्रबंधन की ओर से ई-आर अधिकारी केशव मणि, भारत कैटरर्स के अधिकारी व टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन की ओर से एचएस सैनी, बीके शर्मा आदि हस्ताक्षर किए। एक अक्टूबर तक कर्मचारियों के बैंक खाते में बोनस राशि भेज दी जाएगी।

 

Edited By: Rakesh Ranjan