जागरण संवाददाता, जमशेदपुर। प्रदूषण फैलाने में प्लास्टिक बैग का बहुत बड़ा योगदान होता है, जो पर्यावरण को हानि पंहुचा रहा है। प्लास्टिक हमारी कृषि भूमि को बंजर कर रही है। प्लास्टिक बैग जमीन में दबा देने के बावजूद उसके अवशेष सालो साल तक जीवित रहते हैं जो हमारे जमीन की उर्वरक शक्ति को नष्ट करते हैं। इसलिए प्रदूषण को कम करने के लिये प्लास्टिक बैग का बहिष्कार जरूरी है।

प्लास्टिक बैग के कारण भूमि के अलावा, वायु और जल भी प्रदूषित होता है। प्लास्टिक एक नॉन बायो-डिग्रेडेबल पदार्थ है, जो कई टुकड़ो में टूट तो जाता है पर नष्ट नहीं होता है और मिट्टी में नही मिलता है। इसके इस्तेमाल के बाद फेंक दिए जाने के बाद यह लीक होकर जमीन और पानी में प्रदूषण फैलता रहता है। प्लास्टिक को जलाकर भी नहीं खत्म किया जा सकता है, क्योंकि इसके दहन से कई जहरीली गैसे उत्पन्न होती है। जिससे कई गंभीर बीमारियां हो सकती है। ऐसे में रोटरी क्लब जमशेदपुर वेस्ट ने रेलवे प्रबंधन के साथ मिलकर नो टू प्लास्टिक अभियान चलाया। इस अभियान के तहत बुधवार को रोटरी क्लब के सदस्य प्रेसिडेंट राजेश कुमार के नेतृत्व में टाटानगर रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करने के लिए जागरूक किया। साथ ही उन्हें प्लास्टिक से होने वाले नुकसान की भी जानकारी दी। इस अभियान के तहत रोटरी क्लब की सचिव नीता अग्रवाल सहित रेलवे के वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

इनकी रही मौजूदगी

इस मौके पर रोटरी क्लब के पूर्व अध्यक्ष अंजनी निधि, अचिंतो बनर्जी, अनुपमा सहगल, सपना तलवार, नयना कुमार, निभा मिश्रा, विवेक सिंह, स्नेहलता हरलालका सहित टाटानगर रेलवे स्टेशन के निदेशक एचके बालमुचू, सीसीआई संतोष प्रसाद, एनके झा, अर्पिता मैती व वाणिज्यिक उपाधीक्षक सुनील कुमार सिंह, टाटानगर के कैटरिंग इंस्पेक्टर रमेश कुमार भी उपस्थित थे।

जूट का बैग किया गया वितरित

प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने वाले यात्रियों को रोटरी क्लब की ओर से गुलाब का फूल देकर अभिवादन किया गया। जबकि प्लास्टिक का इस्तेमाल करने वाले यात्रियों के बीच जूट के थैले वितरित किए गए। परिसर में मौजूद दुकानों को भी सहयोग करने की अपील की गई।

Edited By: Rakesh Ranjan