जमशेदपुर : जी हां, ना कभी सुना होगा और ना ही कभी देखा होगा, लेकिन जनाब यह सौ फीसद सच है। यह अजब साहब की गजब कहानी है। इसे कोरोना महामारी का तनाव कहें या फिर कर्मचारियों की काहिली, टीकाकरण अप्रैल में हो गया और सात मई को इस बाबत पत्र जारी किया जाता है। जब लोगों को सच्चाई पता चला तो माथा पीट लिया। जमशेदपुर प्रखंड में कोरोना के खिलाफ जंग में अग्रिम मोर्चे पर लड़ने की जिम्मेवारी इन्हीं कंधों पर है। अदृश्य वायरस से आमजन को बचाने का उत्तरायित्व इन्हीं के कंधे पर है। लेकिन साहब के इस पत्र से जनता में भ्रम फैल गया।

एक महीना पुराना पत्र जारी कर दिया

अब आपको पूरा माजरा समझाते हैं। जमशेदपुर में कोरोना निरोधी टीकाकरण अभियान युद्ध स्तर पर चल रहा है। जमशेदपुर ब्लॉक के प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) प्रवीण कुमार आमजन के लिए शुक्रवार को एक सूचना जारी करते हैं कि शनिवार को आठ से 11 मई अप्रैल तक तीन सेंटरों में कोरोना का टीका दिया जाएगा। जब लोगों के पास यह पत्र पहुंचा तो माथा पीट लिया। एक महीना पुराना पत्र आखिर बीडीओ साहब ने क्यों जारी कर दिया। तभी उनके हस्ताक्षर पर नजर पड़ी तो यह सात मई का था। तब लोगों को पूरा माजरा समझ में आया। साहब ने पुराने पत्र को ही जारी कर दिया गया।

कर्मचारियों से लेकर बीडीओ साहब तक ने इस पर ध्यान नहीं दिया और साहब ने भी आंख मूंदकर हस्ताक्षर कर दिया। लेकिन, जनाब यह पब्लिक है, सब जानती है। समझदार पब्लिक यह समझ गई यह साहब की चूक हैं। तबतक यह पत्र वाट्सएप के माध्यम से वायरल हो गया और जमशेदपुर प्रखंड की खूब छीछालेदर हो गई। अब कर्मचारी माथा पीट रहे हैं और साहब की भृकुटी तनी हुई है। एक तो कोरोना आफत बनी हुई है, ऊपर से यह गलती गले की हड्डी बन गई। यहां बताना जरूरी है कि 45 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लोगों को बागबेड़ा, गोविंदपुर व परसुडीह सेंटर में को वैक्सीन का टीका दिया जा रहा है। यह आठ मई से 11 मई तक चलेगा।

इन केंद्रों पर होगा वैक्सीनेशन

  • बागबेड़ा स्थित लोहिया भवन
  • छोटागोविंदपुर स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल स्कूल
  • हलुदबनी परसुडीह स्थित लोहिया भवन 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप