जमशेदपुर, जासं। देश में जिस तेजी से कोरोना वायरस का संक्रमण फैल रहा है उससे यही कयास लगाए जा रहे हैं कि केंद्र सरकार कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए एक बार फिर देश में पूर्ण लॉकडाउन लगा सकती है। लेकिन टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने पूर्ण लॉकडाउन को देश की अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा नुकसान बताया है।

नेशनल इंडियन मैनेजमेंट एसोसिएशन के 6वें राष्ट्रीय कान्क्लेव को संबोधित करते हुए टाटा संस के चेयरमैन ने कहा कि देश में पूर्ण लॉकडाउन नहीं लगाया जाना चाहिए। बशर्ते हमें लोगों के जान के साथ-साथ देश की अर्थव्यवस्था की भी रक्षा करनी होगी। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि वैक्सीन उत्पादन कंपनियों को बड़े पैमाने पर अपनी उत्पादन क्षमता को बढ़ाने की जरूरत है। चंद्रशेखरन ने तर्क देते हुए कहा कि कोविड 19 वैश्विक महामारी ने देश की समस्या को उजागर किया है जिसे हम टेक्नोलॉजी की मदद से हल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि असपताल में बेड, ऑक्सीजन, इंजेक्शन की उपलब्धता कितनी है, यह हम ऑनलाइन प्लेटफार्म के माध्यम से जरूरतमंदों तक पहुंचा सकते हैं।

किताब में किया है दो बडी समस्या का जिक्र

चंद्रशेखरन ने अपनी किताब ब्रिजटल नेशन, तकनीक सुलझाएगी लोगों की समस्या नामक किताब लिखी है। इसमें उन्होंने देश की दो बड़ी समस्याओं का जिक्र किया है। पहला संसाधनों की समस्या और नौकरियां और दूसरी, टेक्नोलॉजी द्वारा दोनों समस्याओं का समाधान। टेक्नोलॉजी पर बोलते हुए चंद्रशेखरन ने कहा कि देश में प्रौद्योेगिकी को लेकर कई अवधारणाएं थी। किसी ने इसे नौकरियों के लिए खतरे के रूप में देखा तो किसी ने इसे आर्थिक स्वतंत्रता की चाभी। उन्होंने कहा कि हम नई तकनीक की मदद से उत्पादकों और उपभोक्ताओं को आपस में जोड़कर अपनी अर्थव्यवस्था को कई गुणा बेहतर बना सकते हैं। वहीं, उन्होंने अगले 10 वर्षो की भविष्यवाणी करते हुए कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य व व्यवसाय में तकनीकि रूप से बड़ा बदलाव आने वाला है। वैश्विक रूप से पूरी दुनिया एक साथ आएगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021