जमशेदपुर, जासं। शहर की 100 वर्ष पुरानी संस्था में से एक एडीएल सोसाइटी की अंदरूनी कलह एक बार फिर सामने आ गई है। सोसाइटी में रहकर सोसाइटी के विरूद्ध कार्य करने के आरोप में कोषाध्यक्ष पी सिमाद्री को पदमुक्त कर दिया गया। यह निर्णय कार्यकारिणी समिति की बैठक में लिया गया। इस बैठक की अध्यक्षता कार्यकारी अध्यक्ष सत्या राव ने की।

बैठक में पूर्व के एजेंडों को पारित किया गया तथा उनका अनुमोदन किया गया। इसके बाद महासचिव एम मज्जी कुमार ने कार्यकारिणी सदस्यों के सामने यह कहा कि ट्रस्टी ने एजीएम कराने के लिए कोई तिथि निर्धारित नहीं की है। उन्होंने यह कहा कि एजीएम कार्यकारिणी समिति के अनुमोदन के बाद ही होगा। इस पर उन्होंने ट्रस्टी का पत्र भी समर्पित किया। इसके बाद पिछले दिनों कोषाध्यक्ष द्वारा मीडिया में सोसाइटी के पदाधिकारियों पर उठाए गए सवालों तथा निष्कासित पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के मामले को सदस्यों के सामने महासचिव ने रखा। इसे अनुशासनहीनता माना गया तथा तत्काल प्रभाव से उन्हें सोसाइटी के कोषाध्यक्ष पद से पदमुक्त कर दिया गया।

तीन-चार माह तक अभी कोई एजीएम नहीं होगी

कार्यकारिणी ने सर्वसम्मति ने यह निर्णय लिया कि आने वाले तीन-चार माह तक अभी कोई एजीएम नहीं होगी और न ही कोई चुनाव होगा। इस बैठक में कार्यकारिणी सदस्यों में वाई नागेश, एम नागेश, के रवि नायडु, सीएच रमणा, पी सिमाद्री, के नरसिंह, एबी राव, पी उमा शंकर, पी नागेश गोखले, एस योगेश, के रामकृष्णा, ए वेंकट राम, एन रामकृष्णा, जे शंकर राव उपस्थित थे।

वित्तीय अनियमितता पर मांगा जवाब इसलिए हटाया : सिमाद्री

 एडीएल सोसाइटी से कोषाध्यक्ष पद से हटाए गए पी सिमाद्री ने कहा कि उन्होंने सोसाइटी के महासचिव से वित्तीय अनियमिता को लेकर कई सवाल किए थे। इस कारण उन्हें पद से हटाया गया। सोसाइटी में हो रही भ्रष्टाचार का वे पर्दाफाश करेंगे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021