जमशेदपुर, जासं। Jamshedpur Juli Ghosh Murder Case. बिष्टुपुर थाना क्षेत्र धतकीडीह में जूली घोष की हत्या तीन जनवरी को घर में घुसकर अपराधियों ने कर दी थी। हत्या के एक माह पूरे हो गए, लेकिन हत्यारे गिरफ्त में नहीं आए। हत्या क्यों हुई इसका भी खुलासा नहीं हो पाया।

हत्यारों की गिरफ्तारी और हत्या के खुलासे को लेकर मुखी समाज कल्याण समिति ने 24 जनवरी को सैंकड़ों की संख्या में सड़क पर उतर कर धरना-प्रदर्शन किया था। बिष्टुपुर थाना का घेराव किया था। उचित कार्रवाई का आश्वासन मिला था। कुछ नहीं हो पाया। उल्टे मुखी समाज कल्याण समिति के अध्यक्ष सुरेश मुखी, उनकी पत्नी समेत अज्ञात भीड़ पर लॉकडाउन उल्लंघन की प्राथमिकी दर्ज कर दी गई।

जूली के पति की भी कर दी गइ थी हत्या

जूली घोष के पति कल्लू घोष की भी 2016 में घर के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसके पहले कल्लू के भाई बुच्चू घोष की हत्या 2008 में कदमा में की गई थी। बुच्चू घोष का भाई मुन्ना घोष गांजा और शराब बेचने के आरोप में जेल में बंद है। जूली घोष के घर से पुलिस ने शराब की बोतल समेत अन्य सामान बरामद किए थे। मुखी समाज कल्याण समिति ने हत्या के खुलासे को लेकर डीआइजी, उपायुक्त और वरीय पुलिस अधीक्षक को आठ जनवरी को मांग पत्र सौंपा था। 15 दिन का अल्टीमेटम हत्या के खुलासा को बिष्टुपुर थाना की पुलिस को दिया था। 15 दिन बीतने के बाद 24 जनवरी को समाज के लोगों ने धरना-प्रदर्शन किया था।

 

Edited By: Rakesh Ranjan