जमशेदपुर (जेएनएन)। आदित्यपुर स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) जमशेदपुर में शनिवार को दीक्षांत समारोह का आयोजन हुआ। एनआइटी के जिमखाना परिसर में आयोजित समारोह का उद्घाटन मुख्य अतिथि ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआइसीटीई) के चेयरमैन अनिल दत्तात्रेय सहस्रबुद्धे तथा विशिष्ट अतिथि ट्रिपल आइटी के चेयरमैन अरबिंद चौबे व एनआइटी के निदेशक प्रो. करुणेश कुमार शुक्ल ने दीप प्रज्जवलित कर संयुक्त रूप से किया।

समारोह में मेधावी छात्रों को मेडल व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि सहर्षबुद्धे ने कहा कि बदलते दौर में शिक्षा प्रणाली में व्यापक सुधार किया जा रहा है। पहले कोई सिलेबस दस वर्षो तक सिलेबस चलता था लेकिन मौजूदा दौर में जरूरत के हिसाब से हर साल सिलेबस में बदलाव किया जा रहा है। ऐसा राज्यों की औद्योगिक आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है।  सिलेबस में बदलाव के लिए शिक्षकों को भी ट्रेनिंग दी जा रही है। पाठ्यक्रम में सुधार, सुधार के प्रति एआइसीटीई गंभीर है। 

उन्होंने प्लेसमेंट पर कहा कि नौकरी नहीं मिलने की बात की जाती है लेकिन कई संस्थानों में शत-प्रतिशत प्लेसमेंट होता है तो कहीं यह आंकड़ा 30 प्रतिशत तक पहुंचता है। है। इससे परेशान होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि तमाम संस्थानों द्वारा शिक्षा में सुधार के लिए व्यापक कदम उठाए जा रहे हैं। इसमें अच्छी रैंकिंग वाले कॉलेज आसपास के कॉलेजों की मदद करेंगे। इसके अलावा इस कार्य में सेवानिवृत हो चुके अनुभवी शिक्षकों की मदद ली जा रही है। पॉलिटेक्निक कॉलेजों में भी शैक्षणिक व्यवस्था में सुधार हो रहा है। जिन संस्थानों का प्रदर्शन खराब हैं उसकी सीटें घटाई जा रही हैं।

बीटेक में प्राची तथा एमटेक में प्रसून को गोल्ड मेडल

दीक्षांत समारोह में दो छात्रों को गोल्ड मेडल दिया गया। यह गोल्ड मेडल बीटेक की छात्रा प्राची जयसवाल व एमटेक के प्रसून कुंडू को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रदान किया गया। इसके अलावा 26 विद्यार्थियों को सिल्वर मेडल दिया गया। जिसमें बीटेक के चार, एमटेक के 15, एमएससी के तीन, एमसी के दो छात्र शामिल हैं।

25 पीएचडी स्कॉलरों को प्रमाण-पत्र

एनआइटी जमशेदपुर में पीएचडी करनेवाले 25 स्कॉलरों को मेडल व प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

290 बीटेक छात्रों को मिला प्रमाण-पत्र

 

जमशेदपुर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान से पासआउट बीटेक के 290 छात्र-छात्राओं को प्रमाण-पत्र दिया गया। मैकेनिकल इंजीनियरिंग के रवि रंजन कुमार सिंह, राजीव रंजन, साकेत कुमार, ि‍निशांत रंजन डे सहित एमटेक के 110, एमसीए के 90 व पीएचडी के 25 छात्र-छात्राएं शामिल है।

Posted By: Vikas Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप