चाईबासा (सुधीर पांडेय)। झारखंड राज्य में 203 नक्सलियों पर न्यूनतम एक लाख रुपये से अधिकतम एक करोड़ तक इनाम घोषित है। इनमें कोल्हान प्रमंडल के कुल 17 नक्सली शामिल हैं। इन नक्सलियों पर कुल 42 लाख रुपये राज्य सरकार ने इनाम रखा है।

इनमें सबसे ज्यादा 15 लाख रुपये का इनाम पूर्वी सिंहभूम जिले के पटमदा के राम प्रसाद मार्डी उर्फ सचिन मार्डी पर है। उधर, आलम यह है कि इनाम के बावजूद नक्सलियों की मुखबिरी के लिए कोई आगे नहीं आ रहा, जबकि ये इसी क्षेत्र में सक्रिय हैं।

पुलिस की सूची में राज्य के कई कुख्यात नक्सली ऐसे हैं जिन पर एक करोड़ का भी इनाम घोषित है। इनमें भाकपा माओवादी के पोलित ब्यूरो सदस्य प्रशांत बोस उर्फ किशन दा उर्फ मनीष उर्फ बूढ़ा, मिसिर बेसरा उर्फ भास्कर उर्फ सुनिर्मल उर्फ सागर, असीम मंडल उर्फ आकाश उर्फ तिमिर, चमन उर्फ लंबू उर्फ करमचंद्र हांसदा, अनिल दा उर्फ तूफान उर्फ पतिराम मांझी उर्फ पतिराम मरांडी उर्फ रमेश जैसे नक्सलियों पर क्रमश: एक-एक करोड़ का इनाम है।

वहीं, सारंडा क्षेत्र में पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुके कांडे होनहागा पर पांच लाख रुपये इनाम घोषित है। वर्ष 2020 में पुलिस की पूरी कोशिश रहेगी कि फरार नक्सलियों को पर शिकंजा कसा जा सके।

किसपर कितना ईनाम

नक्‍सली का नाम-पता                      घोषित ईनाम

राम प्रसाद मार्डी, पटमदा (पू. सिंहभूम)  15 लाख

मोंगरा लुगुन, बंदगांव (प. सिंहभूम)         दो लाख

मोंगरा लुगुन, बंदगांव (प. सिंहभूम)         दो लाख

बिरेन सिंह, सरायकेला खरसावां             दो लाख 

राकेश मुंडा , कुचाइ, सरायकेला            दो लाख 

नोबेल पूरती , बंदगांव,प. सिंहभूम           दो लाख 

सामुएल कन्डुलना , बंदगांव,प. सिंहभूम   दो लाख 

संतोष कन्डुलना , बंदगांव,प. सिंहभूम      तीन लाख 

अरुण हेरेंज , सरायकेला खरसावां          एक लाख 

सूर्या उर्फ सूर्यम , सोनुवा,प. सिंहभूम        एक लाख 

मेरिना सिरका, जेटेया,प. सिंहभूम           एक लाख 

सोन अंगरिया , गोइलकेरा,प. सिंहभूम      एक लाख 

बिरसा हास्सा पूरती, गुदड़ी,प. सिंहभूम     एक लाख 

सामुएल बुड़, बंदगांव, प. सिंहभूम           एक लाख 

जोसेफ अंगरिया, गोइलकेरा,प. सिंहभूम    एक लाख 

श्याम सिंकू , कुमारडुंगी, प. सिंहभूम       एक लाख 

सुभाष मुंडा , गालूडीह, प. सिंहभूम         एक लाख 

कांडे होनहागा , छोटानागरा, प. सिंहभूम  पांच लाख 

17 इनामी नक्सलियों में 12 पश्चिम सिंहभूम जिले के हैं। इन्हें पकड़ने के लिए पुलिस और सीआरपीएफ जवान मिलकर लगातार संयुक्त अभियान चला रहे हैं। नियमित अभियान के कारण ही ये कोई बड़ी नक्सली घटना को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं। वर्ष 2020 में हमारी पूरी कोशिश रहेगी की इन नक्सलियों को कानून के शिकंजे में लाया जाए।

इंद्रजीत माहथा, एसपी ,चाईबासा

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस