जागरण संवाददाता, जमशेदपुर:

मानगो के स्वर्ण व्यवसायी अलंकार ज्वेलर्स के मालिक संतोष कुमार वर्मा की नृशंस हत्या के मामले में पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं। पुलिस संतोष के मोबाइल कॉल डिटेल्स निकाल चुकी है। पुलिस ने शनिवार को संतोष वर्मा के जीजा विवेक वर्मा को पूछताछ के लिए थाना बुलाया। विवेक से सिटी एसपी कार्तिक एस ने भी पूछताछ की। इस संबंध में पटमदा डीएसपी अमित कुमार सिंह ने बताया कि संतोष वर्मा हत्या मामले का पुलिस एक-दो दिन के अंदर खुलासा कर देगी। जानकारी हो कि संतोष वर्मा गुरुवार शाम अचानक अपनी दुकान को बंद कर एक युवक के साथ कहीं निकल गया था। जब देर रात तक संतोष घर नहीं पहुंचा तो उसके परिजन खोजबीन में लग गए। तब इसकी सूचना मानगो थाने को भी दी लेकिन कहीं पता नहीं चला। दूसरे दिन यानि शुक्रवार को संतोष का शव बोड़ाम थाना के पातीपानी गांव के मंदिर के पास बरामद किया गया। संतोष के शव को भारी पत्थर से कुचल दिया गया था।

दोनों मोबाइल हो गये बंद

संतोष वर्मा की हत्या के बाद हत्यारे उसके दोनों मोबाइल व पर्स अपने साथ लेते गये। शुक्रवार को एक फोन बंद तथा दूसरा चालू था। शनिवार को दोनों मोबाइल बंद हो गये। आशंका जतायी जा रही है कि संतोष की हत्या दुश्मनी या फिर प्रेम प्रसंग में की गई। यदि संतोष की हत्या लूटने के लिए की गई होती तो बदमाश उसकी अंगुली की सोने की दोनों अंगूठियां भी अपने साथ ले जाते।

आभूषण कारोबारी मिले एसएसपी से

संतोष वर्मा की हत्या से आक्रोशित मानगो के आभूषण कारोबारियों ने शनिवार को अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। विरोध स्वरुप स्वर्णकार विकास मंच का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को एसएसपी अमोल वी होमकर से मिला व ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से कहा गया कि हत्यारे को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। एसएसपी ने आश्वासन दिया कि आरोपी जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होगा।

भाजपा नेताओं ने परिजनों को बंधाया ढाढस

भाजपा महानगर के पूर्व अध्यक्ष विनोद सिंह शनिवार को स्वर्ण व्यवसायी मृतक संतोष वर्मा के परिजनों से मिले और ढाढस बंधाया। विनोद सिंह ने पुलिस प्रशासन को चेतावनी दी कि हत्यारे 48 घंटे के अंदर गिरफ्तार नहीं हुए तो मानगो की जनता आंदोलन को बाध्य होगी। इस अवसर पर विजय तिवारी, विनोद सिंह, विजय आदि उपस्थित थे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर