हजारीबाग, संवाद सूत्र: हजारीबाग से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। हजारीबाद के बड़कागांव में ससुराल वालों ने घर आये दामाद की हत्या कर अपनी बेटी की मांग उजाड़ दी। 30 वर्षीय मृतक मन्ना राम मांझी पतरातू के बटुका का रहने वाला था। घटना की सूचना मिलते ही उरीमारी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए हजारीबाग भेज दिया है।

चाचा तालोराम को पुलिस ने किया गिरफ्तार

घटना को ले मृतक की पत्नी पानो देवी ने चाचा तालोराम मांझी, समेत सात स्वजनों पर उरीमारी थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया है। दर्ज एफआईआर में कहा है कि मेरा पति मन्नाराम मांझी शनिवार की शाम अपने ससुराल पोटंगा करमाटीलहा आया था। इन सभी आरोपी स्वजनों ने मिलकर मेरे पति की हत्या कर दी और शव को पास के खेत में फेंक दिया। पुलिस आरोपी चाचा तालो राम मांझी को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ कर रही है। घटना के बाद से ही क्षेत्र में मन्ना राम की हत्या क्यों और किस परिस्थिति में हुई। यह चर्चा का विषय बना हुआ है।

खाने-पीने के दौरान हुई मारपीट, हो गई हत्या

मामले पर उरीमारी ओपी प्रभारी शशिभूषण कुमार ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि तालो राम मांझी व मन्नाराम मांझी खा-पी रहे थे, इसी दौरान घटना घटी है। पूछताछ में तालो राम मांझी ने बताया है कि खाने-पीने के दौरान किसी बात को लेकर दोनों में बकझक हुई और तालोराम ने गुस्से से उस पर लाठी से वार कर दिया। उसने बताया कि इसके बाद मै वापस घर चला आया। सुबह देखा तो वह खेत में मृत पड़ा था। वहीं मृतक की पत्नी का कहना है कि मेरे पति की हत्या घर में ही कर उसके शव को खेत में फेक दिया गया। हत्या में तालो राम मांझी व परिवार का अन्य सदस्य भी शामिल थे।

जांच जारी नहीं बक्सा जाएगा दोषी

उरीमारी ओपी प्रभारी शशि भूषण कुमार ने कहा कि पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है। हत्या किस कारण से की गई है। यह जांच के बाद पता चलेगा। घटना में जो भी दोषी पाया जाएगा। उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। हत्या घर में हुई है या खेत में, यह जांच के बाद साफ हो जाएगा। साथ ही हत्या में कौन-कौन लोग शामिल है। इसका भी जल्द खुलासा किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: राज्य सरकार ने आदिवासियों के साथ किया छल,मरांगबुरू की रक्षा हमारे अस्तित्व और पहचान के लिए जरूरी- सालखन मुर्मू

Edited By: Mohit Tripathi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट