हजारीबाग, संवाद सूत्र: हजारीबाग जिले के बरही में अपराधियों ने फिल्मी अंदाज में सामाजिक कार्यकर्ता और अधिवक्ता कुंदन कुमार से लूटपाट की। वे बैंक से पैसे की निकासी कर जैसे ही गया रोड पर पहुंचे, उन्हें झांसा देकर सम्मान के साथ कार में बैठा लिया। इसके बाद बरही बाईपास जीटी रोड पर सुनसान जगह पर ले जाकर बंदूक दिखा कर उनसे 18500 रुपये लूट लिए।

कुंदन कुमार ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि प्रशासन ऐसी गतिविधियों पर पैनी निगाह रखे और त्वरित कार्रवाई करे। प्रशासन की सुस्ती के कारण अपराधियों का मनोबल बढ़ता जा रहा है। दिनदहाड़े बरही चौक और आसपास की सड़कों पर अपराधी अब लूट और अपहरण की घटनाओं को अंजाम देने लगे हैं। उन्होंने  कहा कि बरही चौक पर सरकारी सीसीटीवी मात्र नाम के लिए है। यह महीनों से खराब है।

उन्होंने बताया कि यदि कोई वाहन का शीशा काला हो और एक महीने या उससे अधिक समय पहले वाहन खरीदा गया हो और उस पर नंबर प्लेट नहीं है तो उसमें मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 162,177 एवं 179 के तहत कानून कार्रवाई होनी चाहिए।

अंजान वाहन में नहीं बैठने की सलाह देते हुए और  बरही के लोगों से निवेदन करते हुए कुंदन कुमार ने कहा कि किसी भी अंजान व्यक्ति के साथ ज्यादा घुलना मिलना खतरनाक हो सकता है। वाहन में तो कतई नहीं बैठना चाहिए। अगर आपको किसी स्थान पर असहज एवं डर महसूस हो तो नजदीकी थाने को तुरंत सूचित करें। मोबाइल फोन में थाने का नंबर जरूर सेव कर रखें। उधर, थाना प्रभारी इंस्पेक्टर ललित कुमार ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है।

यह भी पढ़ें: खाने-पीने को लेकर हुआ विवाद तो चाचा ने ससुराल आये दामाद की कर दी हत्या, पूरे परिवार पर प्राथमिकी दर्ज

Edited By: Mohit Tripathi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट