हजारीबाग : विगत कुछ दिनों से शहर के विभिन्न क्षेत्रों में साफ-सफाई नहीं होने से लेकर अतिक्रमण करने की बार-बार मिल रही शिकायतों के मद्देनजर नगर निगम प्रशासन ने सख्त रूख अख्तियार कर लिया है। अब निगम क्षेत्र के सभी 36 वार्ड को तीन भागों में बांटकर सभी कृत्यों के लिए अलग-अलग सफाई पर्यवेक्षक व नोडल पदाधिकारी बनाए गए हैं। ये बातें नगर निगम की महापौर रोशनी तिर्की ने नगर निगम के अटल सभागार में आयोजित प्रेसवार्ता में लोगों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जिम्मेदारी बंट जाने के बाद कहीं से शिकायत मिलने पर संबंधित पदाधिकारी व कर्मियों के विरूद्ध आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

वार्डवार दी गई जिम्मेवारी

उपमहापौर राजकुमार लाल ने बताया कि सभी कर्मी अपने आवंटित क्षेत्रों में जहां- तहां कूड़ा - कचरा फेंकने, सड़क का अतिक्रमण करनेवालों , बि¨ल्डग मैटेरियल गिराने, प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग करनेवालों को ऐसा नहीं करने के लिए जागरूक कर रोक थाम सुनिश्चित करेंगे। वहीं बार -बार ऐसा करनेवालों के विरूद्ध निर्धारित दंड शुल्क की वसूली करना सुनिश्चित करेंगे।

निगम के कार्यपालक पदाधिकारी सुरेश यादव ने बताया कि वार्ड संख्या 1 से लेकर 12 तक के लिए बजरंग राम को सफाई पर्यवेक्षक व नोडल पदाधिकारी नगर प्रबंधक विकास मंडल को बनाया गया है। वहीं वार्ड संख्या 13 से लेकर 24 तक के लिए चुम्मु राम सफाई पर्यवेक्षक व नोडल पदाधिकारी नगर प्रबंधक राजीव रंजन होंगे। वहीं वार्ड संख्या संख्या 25 से लेकर 36 तक के लिए सुधीर राम सफाई पर्यवेक्षक की व नोडल पदाधिकारी की जिम्मेवारी नगर प्रबंधक विकास चंद्रा को दी गई है। वहीं सभी सफाई पर्यवेक्षकों के अंदर में 9 कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है।

मौके पर नगर निगम के महापौर रोशनी तिर्की, उपमहापौर राजकुमार लाल, कार्यपालक पदाधिकारी सुरेश यादव व अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran