हजारीबाग : राष्ट्रीय नाई महासभा, झारखंड के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सीके ठाकुर ने कहा कि झारखंड में नाई जाति की स्थिति बद से बदतर है। गांव से लेकर शहर तक लोग जजमान की प्रथा में संलिप्त हैं। नाई जाति के लोगों को काफी प्रताड़ना सहनी पड़ती है। सामंतों द्वारा जाती सूचक शब्द कह कर अपमानित किया जाता है। इसलिए झारखंड व केंद्र सरकार से मांग किया कि नाई जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करें और तब तक माटी कला बोर्ड की तर्ज पर केश कला बोर्ड का गठन झारखंड सरकार करे। इसमें अध्यक्ष एवं सदस्य नाई के हों। हजारीबाग जिला के संदर्भ में कहा कि राष्ट्रीय नाई महासभा, झारखंड के उपाध्यक्ष रविंद्र शर्मा, चरही को ह•ारीबा़ग का जिला संयोजक मनोनीत किया गया है। उन्होंने कहा कि हजारीबाग में कुछ लोग अपने आप को जिलाध्यक्ष घोषित करते वह गलत प्रक्रिया है। उन्होंने कहा कि छठ पूजा के बाद जिलाध्यक्ष का चुनाव करा लिया जाएगा। तबतक सदस्यता जिला संयोजक रविंद्र शर्मा के देख रेख में होगा। इस प्रेस वार्ता में प्रदेश सचिव सुरेश ठाकुर, मनोज ठाकुर, मनीष ठाकुर, रामोतार ठाकुर, उमेश ठाकुर, शाशि ठाकुर, छत्रधारी ठाकुर, दिनेश ठाकुर, नारायण ठाकुर, रमेश ठाकुर, छोटन ठाकुर आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran