संवाद सूत्रए चरही : प्रत्येक महीने की तरह शुक्रवार को चरही स्थित प्रसाद भवन में वनवासी कल्याण केंद्र के आचार्यों की मासिक बैठक आहूत की गई। मुख्य अतिथि प्रांतीय सचेतक सुमन उरांव थे। बैठक में सभी आचार्यों को जानकारी देते हुए कहा कि हर वर्ष 9 अगस्त को विश्व आदिवासी के रूप में मनाई जाती है। लेकिन उक्त दिवस के पीछे हम भारतीय आदिवासियों को गुमराह करने की मंशा छुपी होती है। देश के आदिवासियों को विदेशी मिशनरियां अपने उपर हावी होने की कोशिश करते रही हैं। आगे बताया कि वनवासी कल्याण केंद्र का मकसद होना चाहिए कि बच्चों को अच्छे संस्कार देने वाली शिक्षा हो। भगवान राम की संस्कृति से जुड़ी बातों की जानकारी मिलने चाहिए। भगवान बिरसा के जयंती को ही आदिवासी दिवस मनाने की बात कही। मौके पर जिला सचिव राम सेवक प्रसाद, जय लाल महतो समेत कई आचार्य उपस्थित थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस