संवाद सूत्र, कटकमदाग : प्रखंड के सुल्ताना गांव में मंगलवार को हुए चाकू के हमले में घायल 22 वर्षीय सलमान की बुधवार को इलाज के दौरान रिम्स में मौत हो गई। शव के गांव पहुंचते ग्रामीण व परिजन आक्रोशित हो गए। लोग हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव के साथ सड़क पर प्रदर्शन करने लगे। इस विरोध प्रदर्शन के कारण करीब छह घंटे तक हजारीबाग-चतरा रोड जाम रहा। बाद में सीओ, एसडीपीओ और स्थानीय जन प्रतिनिधियों के आश्वासन के बाद जाम हटाया गया। घटना के संबंध में बताया जाता है कि मंगलवार दोपहर मो. तबारक हुसैन के घर पर उनके बेटे मो. सलमान को बातचीत के दौरान चाकू मार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया गया था। आनन-फानन में परिजन घायल को सदर अस्पताल ले गए, जहां घायल की गंभीर स्थिति को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए उसे रांची रेफर कर दिया गया था। बाद में इलाज के दौरान घायल सलमान की रिम्स में ही मौत हो गई। सलमान को चाकू मारने का आरोप गांव के ही मो. हदीस, मो. कलीम और हदीस और कलीम के दामाद मो. असलम और मो. फैसल पर है। मृतक के पिता ने बताया कि मोबाइल पर मैसेज को लेकर मंगलवार को दोपहर मेरे घर पर ही चारों बात करने पहुंचे थे। मेरे बेटे पर इन लोगों ने मोबाइल से मैसेज भेजने का आरोप लगया। इस बीच अचानक बेटे पर उन लोगों ने चाकू से वार कर दिया। 24 घंटे में गिरफ्तारी के आश्वासन के बाद हटा जाम सुल्ताना में एनएच 100 पर करीब छह घंटे तक जाम रहा। मौके पर पहुंचे कटकमदाग बीडीओ मंडल, जितेंद्र मंडल, एसडीपीओ बड़कागांव बीपी राउत, इंस्पेक्टर गणेश सिंह ने ने उनकी मांगों पर 24 घंटे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। इसके बाद जाम लोगों ने हटा लिया, जाम के कारण सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस