कटकमसांडी में रसोइया-संयोजिका संघ की हुई राज्यस्तरीय बैठक

प्रदेश अध्यक्ष अजीत प्रजापति ने सरकार पर लगाया उपेक्षा का आरोप

संवाद सूत्र कटकमसांडी (हजारीबाग) रविवार को प्रखंड मुख्यालय परिसर में झारखंड प्रदेश विद्यालय रसोइया-संयोजिका संघ की प्रखंड स्तरीय बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता हजारीबाग जिला अध्यक्ष महेंद्र राम पासवान ने की। बैठक में बतौर मुख्य अतिथि प्रदेश अध्यक्ष अजीत प्रजापति ने कहा कि देश के नौनिहालों को हर दिन भोजन परोसने का काम विद्यालय की रसोइया एवं संयोजिका करती है। परंतु राज्य सरकार रसोइयों व संयोजिका को उपेक्षा की दृष्टि से देख रही है। विद्यालय खुलने से बंद होने तक लगभग छह-सात घंटे विद्यालय अवधि में काम करने वाली इन कर्मियों को न्यूनतम मजदूरी से भी कम का भुगतान किया जाता है, जो सरासर अन्याय है। जिला अध्यक्ष महेंद्र राम पासवान ने कहा कि अगर कोई सामान्य आदमी निर्धारित न्यूनतम मजदूरी से कम मजदूरी का भुगतान करता है तो सरकार उसके खिलाफ मजदूरों के शोषण का केस दर्ज करती है। परंतु राज्य की सरकार रसोईया को न्यूनतम मजदूरी से भी कम भुगतान कर गरीबों शोषित करने में लगी है। यह मानवाधिकार का हनन है। अपनी मांगों को लेकर आगामी फरवरी में आयोजित होने वाले मानसून सत्र में घेरा डालो डेरा डालो अभियान के तहत रांची जा कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने की भी बात कही। जिला अध्यक्ष एवं मुख्य अतिथि ने जिले के सभी प्रखंडों से दो दो सौ रसोईया को घेरा डालो डेरा डालो अभियान में शामिल होने की बात कहा। बैठक में रसोईया संघ को मजबूत करने के लिए सदस्यता अभियान चलाने तथा संगठन विस्तार पर भी चर्चा किया गया। बैठक में हजारीबाग नगर अध्यक्ष शांति देवी, सदस्य अख्तरी बानो, रीता देवी, संगीता देवी, भुनेश्वरी देवी, कालो देवी, गीता देवी, लखिया देवी, अनार देवी, बबली देवी, चांदो देवी, देवंती देवी, उर्मिला देवी, देवकी देवी सहित दर्जनों उपस्थित थी।

Edited By: Jagran