लीड----------

परिजनों ने प्रेमी पर लगाया जबर मांग भरने का आरोप, पुलिस ने लिया हिरासत में

संसू, इचाक (हजारीबाग) : थाना क्षेत्र के क्वातु गांव में नारायणपुर स्थित सीता कुंड के बंद पड़े पत्थर खदान से एक युवती का शव सोमवार को बरामद हुआ। शव मुंह के बल पानी में सुबह चरवाहों ने देखा और इसकी सूचना पुलिस को दी। शव की पहचान गांव के सुरेश यादव की 18 वर्षीय पुत्री रेणु कुमारी के रूप में हुई । रेणु 20 जून की सुबह घर से गायब थी। पुत्री के लापता होने की सूचना सुरेश यादव ने फोन से इचाक थाना प्रभारी को दी थी। खोजबीन में युवती के परिजन और पुलिस जुटी थी। सोमवार की सुबह बंद पत्थर खदान में युवती का तैरता हुआ, शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही इचाक थाना प्रभारी देवेंद्र कुमार पुलिस बल के साथ सीताकुंड बंद पत्थर खदान पहुंच कर शव को बाहर निकाल कब्जा में लेते हुए पंचनामा कराकर पोस्टमार्टम के लिए शेख भिखारी मेडिकल कॉलेज भेज दिया। ग्रामीणों एवं पुलिस के अनुसार मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है। मामले में रेणु के प्रेमी अभिषेक उर्फ छोटे यादव को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। समाचार लिखे जाने तक मृतक के परिजनों द्वारा थाना में आवेदन नहीं दिया गया था।

पुलिस ने जब्त किया सुसाइड नोट

मृतिका के परिजनों ने पुलिस को मृतिका के द्वारा लिखी गई दो पेज का सुसाइड नोट सौंपा है। जिसमें लिखा है कि मैं जाने अनजाने में गलती कर चुकी हूं। इसमें किसी का दोष नहीं है ।अभिषेक उर्फ छोटे ने मुझे झांसे में लेकर बीच राह में छोड़ दिया। जिसके चलते में आत्महत्या जैसे कठोर कदम उठाने को विवश हुई । दो वर्षों से चल रहा था प्रेम प्रसंग

सीता कुंड पत्थर खदान से बरामद होते ही तिलरा, भुसवा, नावाडीह, निचतपुर और कवातू गांव में सनसनी फैल गई। ग्रामीणों की माने तो अभिषेक उर्फ छोटू तथा रेनू के बीच दी वर्षों से प्रेम प्रसंग चल रहा था जिसकी जानकारी युवक-युवती के घरवालों को थी। दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे। लेकिन एक ही मोहल्ले में मकान होने के चलते परिजन इसका विरोध कर रहे थे ।

--------------------- प्रेमी ने गृह प्रवेश का प्रसाद खाने के बुलाया और भर दी मांग

पड़ोस के घर का गृह प्रवेश का प्रसाद खाने के दौरान युगल प्रेमी की मुलाकात शनिवार रात को हुई थी।जहां रेनू के प्रेमी अभिषेक उर्फ छोटे ने जबरन उसके मांग में सिदूर डाल दिया। अभिषेक ने रेणु को अपने घर यह कह कर भेजा कि तुम मेरे घर चली जाओ। मैं बाद में आऊंगा। प्रेमी के कहने अनुसार रेनू जब अभिषेक उर्फ छोटू के घर पहुंची तो अभिषेक की मां पिता तथा भाइयों ने मारपीट शुरू कर दी। जिसके बाद रेणु ने प्रेमी को फोन कर बुलाया, तो उसने कह दिया कि तुम समझ लो हम अभी घर नहीं आएंगे। इस उपरांत मामले की जानकारी रेणु के पिता सुरेश यादव को दी गई। जिसके बाद दोनों के परिजनों ने आपसी सहमति से मांग धो डाला। रात भर युवती परिजनों के चंगुल में रही। सुबह मौका मिलते ही वह घर से निकली जिसकी खोजबीन घरवाले करते रहे अंतत: पुलिस को सूचना दी गई जिसके बाद छोटे उर्फ अभिषेक के दो भाइयों को पूछताछ के लिए पुलिस थाना ले गई। पुलिस द्वारा दबिश बनाने के बाद रविवार शाम को अभिषेक उर्फ छोटे खुद को थाना में आत्म समर्पण कर दिया और सुबह युवती का शव खदान में तैरता मिला।

Edited By: Jagran