संसू, दारू (हजारीबाग) : प्रखंड के दिगवार पंचायत के कंजिया पुरनी नानो के घने जंगलों के बीच स्थित मां चंडी स्थान परिसर में मकर संक्रांति के अवसर पर भव्य मेला लगा। यहां विराजती मां चंडी की पूजा स्थल यहां के लोगों की आस्था व सत्य का प्रतीक है। यहां वर्षों से मकरसंक्रांति के दिन मेला लगने की परंपरा चली आ रही है। यहां पर मां की आशीर्वाद को पाने के लिए सिर्फ हजारीबाग जिला के ही नहीं बल्कि दूर-दराज के लोग भी आकर अपनी मन्नतें मांगते हैं और मां चंडी इसे पूरा करती हैं पुजारी राथो अगरिया ने बताया की मेरे दादा परदादा यहां के पुजारी थे और हम भी आज उसी का परंपरा को निभा रहे हैं। मकर संक्रांति के दिन से दो दिवसीय मेला का आयोजन यहां किया जाता है इस मेला में चुरचू मांडू घाटो रामगढ़ सदर दारू के अलावे अन्य जग्गू से श्रद्धालुओं पहुंचते हैं इस रास्ते से जो भी राहगीर गुजरता है चाहे वह किसी धर्म समुदाय का हो वह इस स्थल पर रुक कर अपने आप मस्तक को झुकाता है। अगर कोई राहगीर खैनी खाता है तो वह खैनी बना कर माता के दरबार में प्रसाद रूपी भेंट चढ़ा कर ही जाता है। बुजुर्गों की माने तो यह पुरानी परंपरा है या मां चंडी के प्रति आस्था श्रद्धालु की मन की मुरादे यहां की मन्नत से पूरी होती हैं। इस चंडी स्थल पर मुख्य अतिथि के रूप में मांडू विधायक जयप्रकाश भाई पटेल ने इसे आधुनिक बनाने की बात कही। विधायक के सहयोग से यहां विशाल मंदिर पूजाग्रह भवन निर्माण कराया जा रहा है ताकि इस स्थल को एक नया पहचान म पर्यटन स्थल के रूप में मिल सके।मेले में विधायक प्रतिनिधि इंद्रदेव सिंह मुखिया प्रतिनिधि महेंद्र मुर्मू पंचायत समिति सदस्य बलेश्वर गोप, कृष्णकांत देव सहित कई लोग मुख्य रूप से मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021