संसू, चौपारण (हजारीबाग): प्रखंड मुख्यालय से मात्र नौ किलोमीटर की दूरी पर स्थित झापा पंचायत के झापा मोड़ से अमरौल गांव तक जाने वाली 3.4 किलोमीटर मुख्य सड़क पिछले कई सालों से जर्जर पड़ी हुई है। इसससे ग्रामीणों को आने जाने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों ने बताया की उक्त जर्जर सड़क की स्थिति बरसात के दिनों में बहुत अधिक खराब हो जाती है । ग्रामीणों के अनुसार जर्जर सड़क में गिरकर बाइक चालकों के अलावा हर साल दर्जनों लोग चोटिल हो जाते है। ऐसे में इस सड़क पर गाड़ी या बाइक चलाना तो दूर की बात है, पैदल चलना भी मुश्किल है। सड़क पर गड्ढे हैं या गड्ढों में सड़क, बरसात के समय में यह समझ पाना ग्रामीणों के लिए बेहद ही मुश्किल होता है और इसका सवाल यहाँ के आम लोगों की जुबान पर है । इस सड़क से हर दिन गाड़ी, बाइक के अलावा सैकड़ों लोगों का पैदल आना जाना होता है । साढे तीन किलोमीटर लंबी इस सड़क को पार करने के लिए राहगीरों को दर्जनों गढ़े नापने पड़ते हैं । तब कहीं वे राहगीर बारा चौक पहुंच पाते हैं । ग्रामीणों के अनुसार इस सड़क का सात वर्ष पूर्व कालीकरण हुआ था ! जो आज के समय में अत्?यंत जर्जर हो चुकी है ! पंचायत की मुखिया पूर्णिमा देवी व ग्रामीणों का कहना है की कई बार हमलोगों ने जर्जर सड़क को लेकर जन प्रतिनिधियों को शिकायत की है। कुछ ग्रामीणों ने बताया की चुनाव आते ही नेता लोग गाँव पहुंचकर हमलोगों को बड़े - बड़े आश्वासन देते हैं परंतु चुनाव खत्म होते ही हम ग्रामीणों की समस्या और जर्जर सड़क का सुध लेने तक कोई नहीं आता है। क्षेत्र के पूर्व जिला परिषद् सदस्य व भाजयुमो झारखंड प्रदेश के उपाध्यक्ष सुनील साहू ने बताया की मैंने क्षेत्र के सांसद जयंत सिन्हा को लिखित पत्र देने के साथ ग्रामीणों के आने जाने में होने वाली परेशानियों के बार मे खास रूप से सांसद को बताया और जल्द ही सड़क को बनाने का आग्रह किया है !

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस