संस, हजारीबाग : सरस्वती शिशु विद्या मंदिर रामनगर में मातृ सम्मेलन का आयोजन किया गया। शनिवार को आयोजित इस समारोह में विद्यार्थियों के परिजन के अलावा बड़ी संख्या में अन्य लोग भी उपस्थित थे। बतौर मुख्य अतिथि भारत माता, मां सरस्वती के चित्र पर माल्र्यापण कर मेयर रौशनी तिर्की, विद्यालय अध्यक्ष अमरदीप यादव, वार्ड पार्षद दीपक सिंह, प्रकाश कुमार सिन्हा ने समारोह का प्रारंभ किया। समारोह को संबोधित करते हुए मेयर ने कहा कि दुनिया में मां से बड़ा और पिता से उंचा किसी का कद नहीं है। माता -पिता का घर बच्चों का पाठशाला होता है। घर के संस्कारों को विद्यालय और बेहतर बनाने का काम करती है। विद्या मंदिर नाम के अनुरुप विद्यालय है और संस्कार के साथ यहां चरित्र का भी निर्माण होता है। इससे पूर्व कक्षा चार व पांच के भैया बहनों ने सांस्कृतिक समारोह में अपनी नृत्य शैली, गायन और नाटक के मंचन से उपस्थित लोगों को दांतो तले उंगली दबाने को मजबूर कर दिया। सचिव प्रमोद कुमार सिन्हा ने विषय प्रवेश कराते हुए आयोजन के पीछे के उद्देश्यों के बारे में बताया। मौके पर कविता सिह, पिटू कुमार, शाश्वत कुमार, सुधा राम, किशोर प्रसाद उपस्थित थे। मंच का संचालन सुधा राय ने किया। धन्यवाद ज्ञापन राजेश कुमार पांडेय ने की।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप