हजारीबाग, जेएनएन। झारखंड के हजारीबाग में गुरुवार को शौर्य जुलूस के दौरान दो गुटों में झड़प के बाद सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया था। उपद्रवियों ने आधा दर्जन मोटरसाइकिलें जला दी थीं। शुक्रवार को शहर का माहौल धीरे-धीरे सामान्य हो रहा है, दुकानें खुल रही हैंं। सभी विद्यालय भी खुले हैं। पुलिस ने देर रात कुछ लोगों को उठाया है। मामले की पड़ताल की जा रही है। 

जानकारी के मुताबिक, शौर्य दिवस जुलूस पर भगत सिंह चौक पर अचानक पथराव के बाद शहर में सांप्रदायिक तनाव फैल गया। एकाएक हुए पथराव के बाद शहर में भगदड़ मच गई, पांच मिनट के अंदर शहर की सड़कें सुनी और दुकानें बंद हो गई। देखते ही देखते उपद्रवियों ने छह मोटरसाइकिलें व दो साइकिलों को आग के हवाले कर दिया, कई वाहनों के शीशे तोड़ दिए गए। पेट्रोल पंप पर भी पथराव किया गया, कई रिक्शा व ठेलों को उलट दिया गया। शहर में तनाव की सूचना मिलते ही डीसी रविशंकर शुक्ला, एसपी मयूर पटेल सहित कई प्रशासनिक पदाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और अश्रुगैस का गोला छोड़ उपद्रवियों को खदेड़कर स्थिति को नियंत्रण में किया।

शहर में एहतियात के तौर पर धारा-144 लागू कर दिया गया है, पुलिस व रैफ के जवान शहर में गश्त लगा रहे हैं। पुलिस ने एक दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है जिनसे सदर थाने में पूछताछ चल रही है। वहीं देर शाम तक पुलिस विभिन्न चौक चौराहों पर तैनात कर दी गई। भगदड़ में तीन लोगों के घायल होने की सूचना है। इसमें एक हवलदार महेश यादव भी शामिल है। इनमें से एक को रांची रिम्स भेजा गया है। उपायुक्त व एसपी ने लोगों से अफवाह से बचने और घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की है।

इस तरह बढ़ा विवाद
विवाद के संबंध में बताया जा रहा है कि झंडा चौक की ओर से आ रहे जुलूस पर भगत सिंह चौक पर एक समुदाय के युवकों के द्वारा पथराव किया गया। इसके जवाब में जुलूस में शामिल लोगों ने जवाबी पत्थरबाजी की। देखते ही देखते दोनों ओर से पथराव शुरू हो गया, करीब 15 मिनट तक पथराव होता रहा। हालांकि, दोनों पक्ष एक दूसरे पर पहले पथराव करने का आरोप लगा रहे हैं। इसी दौरान उपद्रवियों ने सिटी प्लाजा के समीप खड़ी छह मोटरसाइकिलों को आग के हवाले कर दिया। कुछ देर बाद दमकल मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया।

जुलूस रोकने पर इचाक में भी बवाल
इधर, इचाक से बाइक रैली लेकर आ रहे श्री राम सेवा संगठन के लोगों को एसडीएम मेगा भारद्वाज के द्वारा रोकने पर जमकर बवाल हुआ। आरोप है कि इस दौरान जुलूस में शामिल लोगों की उनकी पिटाई भी की गई, जिसके बाद आक्रोशित युवाओं ने कोर्रा थाने का घेराव कर दिया। सूचना पर पहुंचे सदर विधायक मनीष जायसवाल, उप मेयर राजकुमार लाल युवाओं के साथ थाने में धरने पर बैठ गए और संबंधित अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग करने लगे। 

 

Posted By: Sachin Mishra