संवाद सहयोगी हजारीबाग : बंगाल की खाड़ी में आए चक्रवात का असर राज्य के विभिन्न जिलों सहित हजारीबाग पर भी पड़ा। इस कारण मंगलवार की रात से बुधवार के दिन भर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में लगातार बारिश हुई। विगत तीन दिनों से रूक-रूककर तो कभी तेजी से हो रही बारिश से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। बारिश से क्षेत्र के नदी-नालों से लेकर तालाब-कुआं सभी लबालब भर दिया, वहीं नालियों के भर जाने के कारण कचरा सड़क पर फैलकर आने जानेवालों के लिए परेशानी खड़ा कर रहा था। वहीं निचले इलाकों के कई मकानों में पानी भर गया। वहीं किसानों का टमाटर का फसल बर्बाद हो गया। जबकि बारिश के साथ तेज हवाओं के चलने के कारण कई स्थानों पर पेड की टहनियां टूटकर बिजली के पोल एवं तार पर गिरे, जिससे आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई। ग्रामीण क्षेत्रों में विगत दो दिनों से बिजली गुल रह रही है। शहर के कुम्हारटोली, रामनगर, शिवदयाल नगर, ओकनी, लोहसिघना, गांधी मैदान का दक्षिण-पूर्वी भाग, आनंदपुरी, साकेतपुरी सहित कई मोहल्लों में बारिश का पानी भर गया। नालियों की बात कौन पूछे लोगों के घरों व दुकानों में भी पानी भर गया। ओकनी के कई घरों में पानी भर गया। वहीं विश्वेश्वर नर्सिंग होम में भी पानी भर गया। नालियां पानी से उफनने लगी थी। इससे नाली का कचरा सड़कों पर पसर गया था। शहर का मेन रोड हो या पीडब्लूडी चौक सभी स्थानों पर जलजमाव देखा गया। नाली का पानी घरों में फैल जाने के कारण लोग नगर निगम प्रशासन को कोसते नजर आए। लोग कह रहे थे कि निगम प्रशासन सिर्फ टैक्स वसूली व अंदरूनी राजनीति में रहता है। नागरिकों को सही ढंग से सुविधा उपलब्ध नहीं कराता है। हालांकि कई वार्ड में बारिश में भी सफाईकर्मी काम कर रहे थे। लेकिन वह पर्याप्त नहीं साबित नहीं हुआ। किसानों पर पड़ा मिला जुला असर बारिश जहां धान की फसल के लिए वरदान साबित हुआ। वहीं टमाटर सहित अन्य सब्जियों के फसल का काफी नुकसान किया है। इस कारण टाटीझरिया से लेकर चुरचू तक के सब्जी की खेती करनेवाले किसानों के चेहरे मुरझाए हुए थे। बताते चलें कि टमाटर की खेती के लिए कम पानी की आवश्यकता होती है। चरमराई बिजली आपूर्ति व्यवस्था तीन दिनों की चक्रवातीय बारिश से शहर से लेकर दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रों की बिजली आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई। मिली जानकारी के मुताबिक शहर के कई स्थानों पर पेड की टहनियां टूटकर बिजली के पोल एवं तार पर गिर गई थी। इस कारण बुधवार को भी कई क्षेत्रों में बिजली गुल रही। हालांकि विद्युत विभाग के पदाधिकारी एवं कर्मी मरम्मत के कार्य में लगे थे, लेकिन लगातार हो रही बारिश के कारण मरम्मति का कार्य करना दुश्वार साबित हो रहा था । मिली जानकारी के मुताबिक टाटीझरिया प्रखंड में विगत 48 घंटे से बिजली गायब है।

Edited By: Jagran