हजारीबाग : केरोसिन विस्फोट में अपनी पत्नी यशोदा देवी और छोटे बेटे 11 वर्षीय आयुष को खोने वाले अमनारी गांव के बसंत ठाकुर के समक्ष बेबसी ऐसी है कि चेहरे पर दर्द का भाव तक नहीं ला सकते हैं। पत्नी और बेटे का श्राद्धकर्म कर रहे बसंत अपने बड़े बेटे को इस हादसे का आभास तक नही होने दे रहे है। बड़ा बेटा पवन भी केरोसिन विस्फोट में अपनी मां और छोटे भाई के साथ घायल हो गया था। लेकिन, इलाज के दौरान मां और भाई की मौत की जानकारी अब तक पवन को नहीं है। पिता बसंत बताते हैं कि हादसे ने मेरी हिम्मत तोड़ दी है। मैंने सबकुछ खो दिया। लेकिन, मुझे मेरे बेटे के लिए जीना है। अस्पताल से एक दिन पहले ही पवन घर लौटा है। उसे मां और भाई के मौत की अब तक जानकारी नही है। बार-बार सवाल करने पर मैंने बता दिया कि मां और भाई का इलाज वेल्लोर में चल रहा है। बसंत इतने बेबस हो चुके हैं कि इस हादसे के बाद अपने आंसू भी बहा नही सकते।

---------------------

इलाज के लिए लेना पड़ा है कर्ज , अब भी मदद की दरकार

एक छोटा सैलून चलाने वाले बसंत ठाकुर पर दिव्यांग पिता तुलसी ठाकुर की भी जिम्मेदारी है। एक हादसे में बुजुर्ग पिता तुलसी ठाकुर ने अपना पैर गवां दिया था। लेकिन, इस हादसे के बाद वे पूरी तरह से टूट चुके हैं। बताते हैं कि अपने बड़े बेटे के इलाज के उन्हें सूद पर कर्ज लेना पड़ा है। मदद के नाम पर अब सरकार से कुछ भी हासिल नही हुआ है। लोग दरवाजे पर जरूर पहुंचे हैं लेकिन मदद का अब भी इंतजार है। हालांकि, स्थानीय स्तर पर मुखिया अनूप कुमार के द्वारा पीड़ित परिवार की मदद की जा रही है।

----------------

32 में 12 सैंपल में पाई गई मिलावट, लेकिन मिलाया क्या गया अब तक स्पष्ट नही

37 पीडीएस दुकान से वितरित किए गए केरोसिन में गड़बड़ी के बाद करीब 32 सैंपल अलग-अलग दिन जांच के लिए भेज गए थे। इनमें 14 उपयोग के लायक ही पाए गए। इनमें भारी मिलावट पाई गई लेकिन केरोसिन में क्या मिलाया गया यह हादसे के 10 दिनों के बाद भी स्पष्ट नही हो पाया है। उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद ने बताया कि मिलावट तो पाई गई है लेकिन क्या मिलाया गया है यह स्पष्ट नही हो पाया है। मामले की जांच अब भी जारी है। पीड़ितों के मुआवजे को लेकर भी पहल की गई है। मालूम हो कि सदर प्रखंड में सात स्थानों पर हुए केरोसिन विस्फोट में चार लोगों की मौत हो गई थी। करीब एक दर्जन लोग घायल हो गए थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021