संवाद सहयोगी, हजारीबाग: जेवियर विद्यालय के मनमानी के खिलाफ पत्राचार कर न्याय की मांग कर रहे अभिभावक मंगलवार को धरना पर बैठ गए। विद्यालय पर मनमानी का आरोप लगाते हुए अभिभावकों ने जमकर नारेबाजी की। जिला प्रशासन के आदेश को भी नहीं मानने वाले जेवियर विद्यालय के बाहर अभिभावकों को धरना पर बैठने की खबर पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। दिन के 11 बजे से शुरु हुआ धरना संध्या चार बजे तक चला। बाद में एसडीएम के आदेश पर सदर थाना प्रभारी नीरज कुमार सिंह की अगुवाई में नियुक्त मजिस्ट्रेट के समझ विद्यालय प्रबंधन और अभिभावकों के साथ वार्ता हुई। अभिभावक एक साथ वार्ता करने की मांग कर रहे थे, वहीं प्रबंधन एक साथ दो लोगों के साथ बैठक कर वार्ता करने पर अड़ा था। मंगलवार को सामाजिक कार्यकर्ता मनमीत अकेला के नेतृत्व में धरना दिया गया। वहीं आजसू सहित विभिन्न छात्र संगठनों ने बुधवार से आंदोलन को धार देने की बात कहीं है। दरअसल, संत जेवियर विद्यालय के 56 अभिभावकों को उनके बच्चों को स्कूल से निकाल देने की सूचना पर दो माह पूर्व विवाद शुरु हुआ। विवाद लगातार बढ़ते जाने के बाद उपायुक्त ने डीएसई की अध्यक्षता में वार्ता के लिए एक दल का गठन किया था। इसके बाद एसडीएम ने एक बार फिर पहल कर वार्ता करने को लेकर दोनों पक्ष को कहा था। इस दौरान अभिभावकों का आरोप था कि स्कूल में बुलाकर अलग-अलग कमेटी बनाकर अभिभावकों को प्रताड़ित किया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस