संसू, बरही (हजारीबाग) : वर्ष 1952 में तिलैया डैम से पुर्नवास हुए बरही प्रखंड के खोड़ाहर पंचायत अंतर्गत चार माईल में रह रहे रैयतों ने डीवीसी से प्राप्त जमीन का मालिकाना हक का मांग किया है। इस बाबत चार माईल के प्रभावित रैयतों ने स्थानीय सांसद को आवेदन भेजते हुए मदद का गुहार लगाया है। आवेदन में बताया गया कि जमीन का खाता नंबर 45 है। हम लोगों को 1952 में तिलैया डैम से पुर्नवास किया गया है। उक्त भूमि का रसीद लगान शुरुआत से नहीं हो रहा है। जिसके कारण लड़की की शादी व बच्चों के उच्च शिक्षा के लिए लोन एवं किसी भी प्रकार के सरकारी लोन नहीं ले पाते हैं एवं जमीन का खरीद बिक्री एवं जाति आवासीय प्रमाण पत्र का लाभ नहीं ले पाते हैं। हमारे जैसे कुल 56 मौजा वासी इस समस्या से जूझ रहे हैं। वही सांसद से उक्त मामले पर गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए सारे जमीन का रसीद कटवाने के लिए डीवीसी को आदेश देने का आग्रह किया गया। इधर यादव सेना के जिला महामंत्री पड़िरमा ग्राम निवासी संजय यादव ने भी ग्रामीणों की मांग का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि जमीन का मालिकाना हक नहीं मिलने के कारण ये लोग कई प्रकार के समस्याओं का सामना कर रहे हैं। सांसद के समक्ष गुहार लगाने वालों में चारमाईल ग्राम निवासी रोहित कुमार, शुकर यादव, प्रयाग यादव, गिरधारी यादव, रामप्रकाश यादव, पन्नालाल पासवान, बुधन महतो, मुनिया देवी, संजय यादव, बहादुर यादव, राजू यादव आदि शामिल हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस