संसू, विष्णुगढ़(हजारीबाग): विष्णुगढ़ में जरूरतमंदों की जांच के लिए उनका स्वैब लेने में सीएचसी के लिए तीन लैब तकनीशियन तैनात हैं। इसके अलावा उनके सहयोग के लिए अनुबंध कर्मी शामिल रहते है। विगत दिनों विष्णुगढ़ से मिले 5 संक्रमितों के परिजनों के अलावा दूसरे राज्यों से आए 67 लोगों का थ्रोट और नोजल स्वैब के अलावा ब्लड सैंपल लेकर जांच के लिए हजारीबाग भेजा गया। तकनीशियन ने बताया कि स्वैब लेने में संक्रमण से बचाव में एहतियात बरतना प्राथमिकता होती है। सिगल यूज पीपीई किट पहनकर स्बैव लेने के बाद उसे सावधानी से उसका डिस्पोजल कर दिया जाता है। इतना ही नहीं परिजनों को भी संक्रमण से बचाव में तकनीशियन को विशेष एहतियात बरतना होता है। परिजनों के साथ रहने के बजाय अलग-थलग रहते हैं। मकान में अलग कमरे रहते खुद के लिए अलग किए बर्तन में खाना खाते है। अपनी पीड़ा बताते हुए कहते हैं कि उनकी तैनाती अनुबंध पर हुई है। इससे वेतन के बजाय बेहद कम मानदेय मिलता है। बीमा आदि की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है। कहते हैं इस आपदा के दौर में जिस सेवा भाव के लिए काम पर रखा गया है। उसे संजीदगी से पूरा किया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस