संसू, हजारीबाग: ऑल इंडिया डीएसओ छात्र संगठन झारखंड राज्य कमेटी द्वारा राज्य स्तरीय मांग दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। यह मांग दिवस मुख्य रूप से निजी स्कूलों की मनमानी तथा अन्य शिक्षा से जुड़े सवालों को लेकर मनाया गया। इस मौके पर पूरे राज्य भर में अभिभावक, छात्र छात्राएं अपने मांग को प्ले कार्ड में लिख कर प्रदर्शित किए। जिला उपाधयक्ष पूजा कुमारी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण पूरे देश भर में अर्थ व्यवस्था की हालत खराब है, पिछले तीन महीनों से आजीविका और रोजगार बंद है। ना केवल निम्न वर्ग बल्कि माध्यम वर्ग भी इससे काफी प्रभावित है। ऐसे विषम परिस्थिति में ऑनलाइन क्लास के नाम पर निजी स्कूलों की मनमानी लोगो को और परेशानी में डाल रही है। राज्य सरकार द्वारा भी आप जनता के हक में उचित समाधान नहीं सुझाया जा रहा है। जिला सचिव शेखर उपाध्याय ने कहा कि इसके पूर्व भी संगठन ट्विटर के माध्यम से ट्वीट करके, ऑनलाइन हस्ताक्षर अभियान के द्वारा, ज्ञापन के माध्यम से आम लोगो के समस्याओं को प्रशासन और सरकार को अवगत कराया है। इन मांगों को लेकर आज राज्य स्तरीय मांग दिवस मनाया गया।

संगठन द्वारा उठाई गई मांगों में लॉकडॉउन के दौरान निजी स्कूलों द्वारा ली जाने वाली सभी शुल्क माफ करने, ऑनलाइन कक्षाओं के आधार पर ऑनलाइन परीक्षाएं ना ली जाए, वैकल्पिक व्यवस्था किए जाने, गरीब छात्रों को विशेष आर्थिक पैकेज देने की व्वयवस्था करने, निजी स्कूलों के शिक्षकों को वेतन के जगह जीविका भत्ता दिए जाने की मांग शामिल है। कहा गया कि निजी स्कूलों की मनमानी पर सरकार अविलंब ठोस निर्णय ले। मांगो पर विचार ना होने की दशा में संगठन आंदोलन के लिए बाध्य होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस