चौपारण : मानगढ़ निवासी पेशे से राजमिस्त्री आदित्य राम की हत्या कर गांव के बाहरी छोर में फेंक दिया गया। घटना की जानकारी मिलते ही गांव में हलचल फैल गई तथा बड़ी संख्या में लोग मृतक के घर जुटने लगे।

जानकारी के अनुसार मृतक शुक्रवार शाम में ही घर में बिना कुछ बताए निकल गया। देर रात तक उसके परिजन खोजने का प्रयास करते रहे। अहले सुबह मानगढ़ बगीचे के पीछे महिलाओं ने उसे खेत में बेसुध देखा। उसके कान, चेहरे, पेट, पीठ व सिर में गंभीर चोट पाई गई। इसकी चर्चा उसके परिजनों तक पहुंची। तत्काल उसके भाई उसे इलाज की मंशा से घर की ओर ले आए परंतु उसकी मौत हो चुकी थी। तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने घटनास्थल की जांच की, जहां से बीयर की बोतल व पानी की बोतल पाई गई। साथ ही जहर की शीशी भी बरामद की गई। इधर, मृतक के आवास के समीप भीड़ जमा हो गई। मृतक के भाई ने पुलिस को बताया कि षडयंत्र रचकर सुनियोजित ढंग से हत्या की गई है। हाथों में चोट का निशान दिखाते हुए बताया कि दोनों हाथ को बांधकर मारपीट कर जहर पिलाकर हत्या की गई है। हत्या करके इसे आत्महत्या में तब्दील करने की कोशिश की गई है। मृतक की पैंट में गोबर को दिखाते हुए पुलिस को समस्त जानकारी दी। इस घटना में चक के कुछ लोगों की संलिप्तता को दर्शाते हुए थाने में आवेदन दिया गया है। बताया कि कुछ माह पूर्व भी मारपीट की गई थी तथा थाना में ही दोनों पक्षों के बीच समझौता हुआ था। ग्रामीणों ने पूरे मामले की खुलासा करने की मांग की है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शाम में मृतक के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Posted By: Jagran