सात प्रखंडों में आपूर्ति किए गए कंप्यूटर, लैपटाप आदि में गड़बड़ी

उप विकास आयुक्त ने सभी प्रखंडों से इसको लेकर मांगा प्रतिवेदन

संवाद सहयोगी, गुमला: गुमला जिले के सात प्रखंडों में प्रखंड सु²ढ़ीकरण मद से आपूर्ति किए गए कम्यूटर, लैपटाप, प्रिटर स्कैनर, फोटो कापियर और फर्नीचर की आपूर्ति में गुणवत्ता की शिकायतें मिलने के बाद उप विकास आयुक्त कर्ण सत्यार्थी ने सभी संबंधित प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारियों से सामग्री की क्रियाशीलता के संबंध में दो दिनों के भीतर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया था। उप विकास आयुक्त द्वारा जारी पत्र के 13 दिन बीत जाने के बाद केवल दो प्रखंडों ने भी प्रतिवेदन उपलब्ध कराएं हैं। जबकि अन्य प्रखंडों द्वारा किसी तरह का कोई प्रतिवेदन नहीं दिया गया है।

किन सामानों की की गई है आपूर्ति

एजेंसी द्वारा छह की संख्या में सभी सात प्रखंडों में आल इन वन पीसी, दो लैपटाप, पांच मल्टीफंक्शनल प्रिटर, एक स्कैनर, दो फोटो कापियर मशीन जबकि कुल 140 रिवाल्विग चेयर, 80 आफिस चेयर, 60स्टील टेबल, 70मेटल शेल्विग रैक, 12 एक्सक्यूटिव टेबल, 105 स्टील आलमीरा,21 पब्लिक पैलेस सीटिग चेयर, 27एक्सक्यूटिव कम्प्यूटर टेबल की आपूर्ति की गई है।

क्या है मामला

वर्ष 2021 मार्च माह में तत्कालीन उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ ने सिसई,घाघरा, कामडारा, पालकोट, डुमरी, रायडीह और बसिया प्रखंड में प्रखंड सृ²ढ़ीकरण मद से कम्यूटर, लैपटाप, प्रिटर स्कैनर, फोटो कापियर और फर्नीचर की आपूर्ति के लिए निविदा निकाला गया था। कई एजेंसी द्वारा निविदा डाला गया था। इस निविदा में पीपी ग्लोबल और प्रिया इंटरप्राइजेज नामक गुमला जिला के नामचीन एजेंसी को आपूर्ति के लिए चयन किया गया। जानकारी के अनुसार यह दोनों एजेंसी एक ही व्यक्ति का है। निविदा में चयन को लेकर अन्य एजेंसी द्वारा आपत्ति जताई थी।

Edited By: Jagran