रायडीह: जिला परिषद अध्यक्ष किरण माला बाड़ा ने कहा कि शराब के कारण परिवार टूट रहा है। बिखर रहा है। महिलाएं शोषित पीड़ित हो रही हैं। इसलिए महिलाओं को नशा उन्मूलन में अग्रणी भूमिका निभाना चाहिए। एसएस हाई स्कूल रायडीह के मैदान में बुधवार को आयोजित महिला विकास मण्डल रायडीह की छठवीं वाíषक आम सभा को संबोधित करते हुए बतौर मुख्य अतिथि किरण माला बाड़ा ने उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि महिला ही शराब बनाती है और बेचती भी हैं। पुरूष पीतें हैं और सारी यातनाएं, अत्याचार महिलाओं को ही झेलनी पड़ती हैं। इसलिए जीविकोपार्जन के लिए कृषि को उन्नत और फलदार पौधे लगाकर भी आय की वृद्धि के लिए महिलाओं को सुझाव दिए। स्वास्थ्य के प्रति भी जागरूक होने पर बल दिया। संस्थागत प्रसव को अपनाने की बात कही। महिलाएं शिक्षित होंगी तभी सुशिक्षित समाज की नव निर्माण किया जा सकता है। भाजपा नेता मिसिर कुजूर ने केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं से अवगत कराया।कहा कि महिलाएं अब पहले की तुलना में काफी आगे बढ़ गई हैं। संगठित होने से ही उनके आत्मबल में वृद्धि हुई है।उन्होंने कहा कि रायडीह में जल्द ही मॉडल डिग्री कॉलेज बनेगा।नव पदस्थापित बीडीओ मिथिलेश कुमार ¨सह ने कहा कि महिलाओं की जो भी समस्या होगी उसके नादान के लिए वे सदैव तत्पर हैं। इस मौके पर प्रमुख इस्माईल कुजूर, एमेल्डा लकड़ा,सावित्री लकड़ा,किरण बाखला,चरिया आदि थे।

Posted By: Jagran