कामडारा : प्रखंड के ग्रामीण इलाकों में इन दिनों जंगली हाथियों का उत्पाद बदस्तूर जारी है। इससे ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है। वन विभाग जंगली हाथियों से सुरक्षित स्थानों में पहुंचाने के मामले में उदासीन है। शनिवार की रात में जंगली हाथियों के एक झुंड ने रामतोलया पंचायत के गांवों में घुस कर जमकर उत्पात मचाया। केनालोया गांव के बुधवा झोरा और चितापीढ़ी गांव के आनंद मसीह टोपनो के मकानों को जंगली हाथियों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। घरों में रखे धान को खा गए और कई अन्य सामानों को नुकसान पहुंचाया। जंगली हाथियों के हमला को देखकर घर वाले जान बचाकर भागने में कामयाब रहे। ग्रामीणों ने बताया कि तीन दिन पहले जंगली हाथियों ने रेड़वा अंबाटोली निवासी निस्तार केरकेट्टा को कुचलकर मार दिया था। हाथियों का आतंक लगातार जारी है। वन विभाग के अधिकारी हाथियों को सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने का काम नहीं कर रहे हैं। ग्रामीणों ने वन विभाग से हाथियों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने और हाथियों के हमले से हुए नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजा भुगतान करने की मांग की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस