संवाद सूत्र, बिशनपुर: झारखंड प्रदेश विद्यालय रसोइया संयोजिका अध्यक्ष संघ की बैठक अनीता उरांव की अध्यक्षता में हुई। संघ के प्रदेश कोषाध्यक्ष अनीता देवी ने कहा कि शिक्षा सचिव ने तीन जुलाई को पत्र निर्गत करके कहा था कि किसी भी रसोइया, संयोजिका एवं अध्यक्ष को हटाया नहीं जाएगा। लेकिन बहुत जगहों पर हटा दिया गया। जिला स्तर पर अधिकारियों ने शिक्षा सचिव के द्वारा निर्गत चिट्ठी को गलत बता रहे हैं। उन्होंने हटाए गए रसोइया एवं संयोजिका को वापस काम पर लेने तथा रसोइया संयोजिका को मजदूर घोषित कर न्यूनतम मजदूरी निर्धारित करने की सरकार से मांग की। रसोइया एवं संयोजिका का जीवन बीमा पांच लाख करने की मांग की। इन सभी मांगों को लेकर रसोइया संघ राज्य सचिवालय का घेराव करेगी। कोषाध्यक्ष ने प्रखंड कमेटी में मजबूती बनाए रखने की अपील की है। रसोइया ने बताया कि प्रखंड प्रमुख के सहयोग से अब वे स्वयं चावल का उठाव करते हैं। मौके पर प्रखंड प्रमुख रामप्रसाद बड़ाईक, जिलाध्यक्ष देवकी देवी, प्रदेश जिला सदस्य सोनी देवी, सुनामी देवी, रूपन उरांव, ऐगनेसिया केरकेटा, बसंती देवी, सोनी देवी सहित प्रखंड के सभी संयोजिका एवं रसोइया उपस्थित थे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran